केन्द्र ने न्यायालय से कहा: जीएम सरसों की फसल के बारे में हम नीतिगत निर्णय लेंगे

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

केन्द्र ने आज उच्चतम न्यायालय को सूचित किया कि वह डेढ़ महीने के भीतर यह निर्णय ले लेगा कि क्या देश में आनुवांशिक संवर्धित (जीएम) सरसों की फसल के व्यावसायिक उपयोग की अनुमति दी जाये। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ की पीठ ने अतिरिक्त सालिसिटर जनरल पी एस नरसिम्हा से… Read more »

न्यायालय का 10 वर्षीय बलात्कार पीड़िता के गर्भपात के लिये याचिका पर केन्द्र को नोटिस

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

उच्चतम न्यायालय ने 10 वर्षीय एक बलात्कार पीड़ित लड़की के 26 सप्ताह के भ्रूण के गर्भपात की अनुमति के लिये दायर याचिका पर आज केन्द्र सरकार से जवाब तलब किया। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर और न्यायमूर्ति धनन्जय वाई चन्द्रचूड़ की पीठ ने चंडीगढ़ विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य सचिव से इस मामले में न्याय… Read more »

किसानों की आत्महत्या का मसला रातोंरात नहीं सुलझ सकता: उच्चतम न्यायालय

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

उच्चतम न्यायालय ने फसल बीमा योजना जैसी किसान समर्थक योजनाओं के प्रभावी नतीजे आने के लिये कम से कम एक साल के समय की आवश्यकता संबंधी केन्द्र की दलील से सहमित व्यक्त करते हुये आज कहा कि किसानों के आत्महत्या के मामले को रातोंरात नहीं सुलझाया जा सकता है। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर और… Read more »

तीन तलाक विवाह विच्छेद का सबसे खराब तरीका है : उच्चतम न्यायालय

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

केन्द्र सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय से कहा कि अगर अदालत ‘तीन तलाक’ को अमान्य और असंवैधानिक करार देती है तो वह मुसलमानों के बीच शादी और तलाक के नियमन के लिए एक कानून लाएगी। अटार्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ से कहा, ‘‘अगर… Read more »

तीन तलाक विवाह विच्छेद का सबसे खराब तरीका है : उच्चतम न्यायालय

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

उच्चतम न्यायालय ने आज कहा कि मुस्लिम समाज में विवाह विच्छेद के लिये तीन तलाक देने की प्रथा ‘सबसे खराब’ है और यह ‘वांछनीय नहीं’ है, हालांकि ऐसी सोच वाले संगठन भी हैं जो इसे ‘वैध’ बताते हैं। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने आज लगातार दूसरे दिन… Read more »

उच्चतम न्यायालय ने अतिक्रमण हटाने में हाजी अली के प्रयासों की सराहना की

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

उच्चतम न्ययालय ने मुंबई में हाजी अली दरगाह के आसपास अतिक्रमण हटाने में दरगाह ट्रस्ट के प्रयासों की ‘सराहना’ की और उससे कहा कि 500 वर्ग मीटर के शेष इलाके में भी चार सप्ताह के भीतर इसे हटा दिया जाये। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर, न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की… Read more »

केरल मुल्लापेरियार बांध की देखरेख नहीं करने दे रहा : तमिलनाडु ने उच्चतम न्यायालय में कहा

Posted On by & filed under क़ानून, राष्ट्रीय

उच्चतम न्यायालय ने तमिलनाडु की उस याचिका पर केरल से आज जवाब मांगा जिसमें आरोप लगाया गया है कि पड़ोसी राज्य उसे ऐतिहासिक मुल्लापेरियार बांध की देखरेख करने की अनुमति नहीं दे रहा है। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर, न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की पीठ ने केरल को नोटिस जारी… Read more »

कोहिनूर पर फिर से दावा करने आदेश पारित नहीं कर सकते : उच्चतम न्यायालय

Posted On by & filed under क़ानून

उच्चतम न्यायालय ने आज कहा कि वह ब्रिटेन से कोहिनूर के लिये फिर से दावा करने हेतु या फिर इसकी नीलामी को रोकने के लिये कोई आदेश नहीं दे सकता है। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर, न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने कीमती हीरा वापस लाने के… Read more »

उच्च्तम न्यायालय का हाजी अली दरगाह ट्रस्ट को आठ मई तक अतिक्रमण हटाने का निर्देश

Posted On by & filed under क़ानून

उच्चतम न्यायालय ने हाजी अली दरगाह ट्रस्ट को आज निर्देश दिया कि मुबई स्थित इस प्रसिद्ध मस्जिद के आसपास 908 वर्ग मीटर क्षेत्र से आठ मई तक अतिक्रमण हटाया जाये। न्यायालय ने स्पष्ट किया कि दरगाह वाला क्षेत्र संरक्षित रहेगा। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर, न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की… Read more »

मानसिक रोगियों के पुनर्वास के लिए दिशानिर्देश जरूरी: न्यायालय

Posted On by & filed under क़ानून

उच्चतम न्यायालय ने मानसिक रोग से निजात पा चुके व्यक्तियों के पुनर्वास के लिये दिशानिर्देश तैयार करने का निर्देश केन्द्र को देते हुये टिप्पणी की कि यह ‘बेहद संवेदनशील’ मुद्दा है। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर, न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड और न्यायमूर्ति संजय किशन कौल की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने टिप्पणी की कि मानसिक रोगी… Read more »