उत्तराखण्ड का ‘बेताज’ अंग्रेज राजा