लेख

श्रीराम भक्त हनुमान के जन्म स्थान पर विवाद चरम पर

–अशोक “प्रवृद्ध” शक्ति, भक्ति, आस्था, बल, बुद्धि, ज्ञान, दैवीय शक्ति, बहादुरी, बुद्धिमत्ता, निःस्वार्थ सेवा-भावना आदि…