टेलिविज़न

वेब सीरीज से सनातन हिन्‍दू व्‍यवस्‍था ”आश्रम” पर प्रहार

डॉ. मयंक चतुर्वेदी हिन्‍दू सनातन धर्म में ''आश्रम'' वह अरण्‍य संस्‍कृति से उपजी व्‍यवस्‍था है, जिसमें भारत की अति प्राचीन...

हम सबकी ज़िम्मेदारी व समय की मांग है ‘सिटिज़न जर्नलिज़्म’

डॉ. पवन सिंह मलिक सिटिज़न जर्नलिज़्म शब्द जिसे हम नागरिक पत्रकारिता भी कहते है आज आम आदमी की आवाज़ बन...

मुगलों का महिमामंडन राष्ट्रद्रोह है

हाल ही में स्ट्रीमिंग एप हॉटस्टार पर एक नई वेबसीरीज ‘दी एम्पायर’ का प्रसारण हुआ है जिसमें प्रथम मुग़ल बादशाह...

पत्रकारिता के नैतिक मापदंडों पर पश्चिमी मीडिया का दागदार चेहरा

डॉ अजय खेमरिया कोविड 19 की वैश्विक आपदा ने भारत के विरुद्ध पश्चिमी मीडिया के दुराग्रह को पूरी प्रमाणिकता के...

एजेंडा सेटिंग नहीं, लोकमंगल है मीडिया का धर्म

-प्रो.संजय द्विवेदी शानदार जनधर्मी अतीत और उसके पारंपरिक मूल्यों ने मीडिया को समाज में जो आदर दिलाया है, वह विलक्षण...

भारत की अखंडता-संप्रभुता के लिए बड़ा खतरा है विदेशी सोशल मीडिया

संजय सक्सेना विदेशी सोशल कम्पनी ’द्विटर’ और वाॅटसएप का कुछ वर्ष पूर्व ठीक वैसे ही हिन्दुस्तान में पर्दापण हुआ था,...

उजली विरासत को सहेजने की जरूरत : उठ रहे सवालों के ठोस और वाजिब हल तलाशने होंगें

समाज जीवन के सभी क्षेत्रों की तरह मीडिया भी इन दिनों सवालों के घेरे में है। उसकी विश्सनीयता, प्रामणिकता पर...

रोहित सरदाना राष्ट्रवादी सोच के शिखर थे

 ललित गर्ग मशहूर न्यूज एंकर, टीवी पत्रकारिता के एक महान् पुरोधा पुरुष, मजबूत राष्ट्रवादी सोच एवं निर्भीक वैचारिक क्रांति...

16 queries in 0.344