कविता

जितनी समस्या है विदेशी मजहब अपनाने से

---विनय कुमार विनायकआज तमाम इस्लामी औ' गैर-इस्लामी मुल्क में,जितनी समस्याएं है विदेशी मजहब अपनाने से! विदेशी मजहब मानने से, मानवता...

भारत का शिक्षा क्षेत्र में नहीं थी कोई शानी

---विनय कुमार विनायकभारत का शिक्षा क्षेत्र में नहीं थी कोई शानी,प्राचीन भारत में घर-घर में लोग होते ज्ञानी,तक्षशिला, बिहार का...

आज गोरक्षा सिर्फ संघ परिवार नहीं गांधीवादी व अहिन्दुओं के लिए भी है

---विनय कुमार विनायकसृष्टि के आरंभ में अभाव था कृषि अन्न का,तभी जीव ही जीव का भोजन था,सृष्टि के आरंभ में...

21 queries in 0.397