लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप के शादी से लेकर , आडवाणी युग से जवानी युग में लौट रहे कुमार विश्वास

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, टॉप स्टोरी, मनोरंजन, राजनीति

तेजप्रताप के शादी के बाद तेजस्वी के शादी में क्या मिलेगा बारातियों को ? केजरीवाल के बेवफाई के बाद कुमार को मिला भाजपा का विश्वास। लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप के शादी से लेकर , आडवाणी युग से जवानी युग में लौट रहे कुमार विश्वास की पूरी कहानी जानने के लिए क्लिक करें दिए… Read more »

वर्ष का नया प्रथम दिन नव-संवत्सर इतिहास का एक गौरवपूर्ण दिन

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, विविधा

-मनमोहन कुमार आर्य चैत्र शुक्ल प्रतिपदा अर्थात् 18 मार्च, सन् 2018 से नव सृष्टिसंवत एवं विक्रमी संवत्सर का आरम्भ हो रहा है। हमारे पास काल वा समय की अवधि की जो गणनायें हैं वह मुख्यतः दिन, सप्ताह, माह व वर्ष में होती हैं। यदि सृष्टि की उत्पत्ति, मानवोत्पत्ति अथवा वेदोत्पत्ति का काल जानना हो तो… Read more »

डार्विन का सिद्धांत और दशावतारों की अवधारणा

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, महत्वपूर्ण लेख, समाज

संदर्भः केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री सत्यपाल सिंह का डार्विन के सिद्धांत पर दिया बयान- प्रमोद भार्गव दुनिया बदल रही है और बदलती दुनिया में अपने आप को बनाए रखने के लिए परिवर्तन आवश्यक है। दुनिया के इस बदलते स्वभाव की विडंबना है कि दुनिया तो स्थिर है, किंतु परिवर्तन अस्थाई हैं। इसी परिवर्तनशील आचरण… Read more »

समय के दो पाट: कहां ये और कहां वो

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, विविधा, संगीत

समय के दो पाटों में से एक पाट पर हैं शास्‍त्रीय संगीत की पुरोधा गिरिजा देवी की प्रस्‍तुतियां और दूसरे पाट  पर हैं ढिंचक पूजा जैसी रैपर की अतुकबंदी वाली रैपर-शो’ज (जिसे प्रस्‍तुति नहीं कहा जा सकता)। समय बदला है, नई पीढ़ी हमारे सामने नए नए प्रयोग कर रही है, अच्‍छे भी और वाहियात भी,… Read more »

छठ पूजा 2017 कब , क्यों और  कैसे मनाएं ??

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म, वर्त-त्यौहार

जानिए छठ पूजा का महत्त्व और छठ पूजा का पूजा विधान … छठ पर्व सूर्यदेव की उपासना के लिए प्रसिद्ध है। मान्यता है कि छठ देवी सूर्यदेव की बहन है। इसलिए छठ पर्व पर छठ देवी को प्रसन्न करने के लिए सूर्य देव को प्रसन्न किया जाता है।छठ हिंदू त्यौहार है जो हर साल लोगों… Read more »

गोवर्धन पूजा 20 अक्टूबर 2017 —

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म

जानिए क्या है शुभ मुहूर्त, कैसे करें पूजा– प्रिय पाठकों/मित्रों, हमारे देश भारत में हिन्दू पंचांगों के अनुसार कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा को गोवर्धन उत्सव मनाया जाता है |गोवर्धन को ‘अन्नकूट पूजा’ भी कहा जाता है| गोवर्धन पूजा आमतौर पर दिवाली के अगले दिन मनाया जाता है। लेकिन कभी-कभी तिथि के बढ़ने… Read more »

दुःख दारिद्र्य दूर करने व रूप प्राप्ति का अवसर नरक चतुर्दशी…!!!—

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म

आज बुधवार  (18  अक्टूबर 2017 ) को नरक चतुर्दशी, यम चतुर्दशी, नरक चौदस पर विशेष— कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को नरक चतुर्दशी, यम चतुर्दशी, नरका चौदस का त्योहार मनाया जाता है। इस द‍िन को हुनुमान जयंती के रूप में भी मनाते हुए बजंरग बली की पूजा-अर्चना करते हैं। प्रचलित मान्यताओं के अनुसार… Read more »

प्रकृति के रूप में महालक्ष्मी

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म

संदर्भः- दीपावली के परिशिष्ट हेतु प्रमोद भार्गव समुद्र-मंथन के दौरान जिस स्थल से कल्पवृक्ष और अप्सराएं मिलीं, उसी के निकट से महालक्ष्मी मिलीं। ये लक्ष्मी अनुपम सुंदरी थीं, इसलिए इन्हें भगवती लक्ष्मी कहा गया है। श्रीमद् भागवत में लिखा है कि ‘अनिंद्य सुंदरी लक्ष्मी ने अपने सौंदर्य, औदार्य, यौवन, रंग, रूप और महिमा से सबका… Read more »

जानिए कैसे आज अपनी राशि के अनुसार ही करें खरीदारी, हमेशा साथ रहेगी खुशियां—

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, धर्म-अध्यात्म

  हर किसी के मन में होता है कि लक्ष्मीजी को कैसे प्रसन्न करें, कैसे घर में वैभव, स्वास्थ्य लाभ, सुख-समृद्धि और उन्नति के रास्ते खुल जाएं। आपको बताने जा रहे है धनतेरस पर यदि अपनी राशि के मुताबिक सामान खरीदें तो लक्ष्मी प्रसन्न हो जाती हैं। वैदिक /सनातन हिन्दू पंचांग के अनुसार दिवाली की… Read more »

परिवार व समाज की एकता का पर्व दिवाली

Posted On by & filed under कला-संस्कृति, समाज

सुरेश हिन्दुस्थानी भारत के त्यौहारों की विशेषता यह है कि यह सामाजिक एकता के अनुपम आदर्श हैं। इसी भाव के साथ प्राचीन काल से यह पर्व हम सभी मनाते चले आ रहे हैं। वर्तमान में पर्वों का यह शाश्वत भाव आज भी प्रचलन में है। हम देखते हैं कि आजीविका के लिए घर से दूर… Read more »