बेटी बचाओ -बेटी पढाओ

अभी अभी एक घटना घटी
बात बिलकुल सच्ची है पर अटपटी
अभी अभी एक व्यक्ति का फोन आया
उसने मझे डॉक्टर कह कर बुलाया
क्या आप डॉक्टर अनिता बोल रही है ?
हाँ,मै डॉक्टर अनिता ही बोल रही हूँ
कहिये,मै आपकी क्या सेवा कर सकती हूँ ?
क्या बीमारी है,क्या समझ सकती हूँ ?
दूसरी तरफ से जबाब आया ,
मै डॉक्टर खुराना बोल रहा हूँ
तुम्हारा पुराना साथी बोल रहा हूँ
वह कुछ सहमा सा डरते हुए बोला,
मेरी पत्नी जो डॉक्टर है प्रेगनेंट है
लगता है वह चार महीने से प्रेगनेंट है
पर उसने अभी अभी मुझे बताया
उसके गर्भ में एक बच्ची पल रही है
पर वह इससे बहुत ही डर रही है
हम उसका एबॉर्शन कराना चाहते है
न चाह कर भी यह सब कुछ चाहते है
यह सुनकर डॉक्टर अनिता गुस्से में बोली
क्यों करते हो उसके जीवन से अठखेली ?
मालूम है तुम,किस से बात कर रहे हो ?
क्यों ये अनहोनी बात कर रहे हो ?
मै तुम्हे अभी जेल भिजवा दूँगी
पुलिस के हत्थे अभी चढवा दूँगी
डॉक्टर होकर भी ऐसी बाते करते हो
कुछ तो शर्म खाओ ऐसी बाते करते हो
अगर मै ऐसा कुछ तुम्हारे लिए करती हूँ
तुम भी जेल जाओगे मै भी जेल जाउंगी
डॉक्टर खुराना रोते हुए बोले,
जरा डॉक्टर साहिब ध्यान से सुनो
जब ये बच्ची इस संसार में आएगी
हम उसका लालन पोषण कर सकते है
उसको डॉक्टर भी बना सकते है
अच्छा नागरिक भी बना सकते है
पर हम तो दोनों  काफी डर रहे है
अपने डर के कपाट तुम से खोले रहे है
जब यह बच्ची इस संसार में आयेगी
अपने जीवन के कुछ साल बितायेगी
इस समाज के बीच दहलीज में आयेगी
क्या इसको समाज में सुरक्षा मिल पायेगी ?
क्या कोई दरिंदा व्यक्ति यहाँ नहीं आयेगा ?
क्या इस बच्ची का कोई रेप नहीं कर पायेगा ?
क्या हम बलात्कारी को सजा दिला पायेगे ?
क्या उस बच्ची को न्याय दिला पायेगे ?
ये ही प्रश्न उभर रहे हमारे मस्तिष्क में
इसका हल कोई नहीं हमारे मस्तिष्क में
इसलिए हम एबॉर्शन कराना चाहते है
पर ऐसी सोच के लिए क्षमा चाहते है
माना कि “बेटी बचाओ,बेटी पढाओ”
खूब जोर शोर से प्रचार करते है हम
“बेटी पढाओ, रेप से बचाओ”
“दरिंदो को सजा दिलवाओ ”
पर ये प्रचार क्यों नही करते हम ?
आओ हम सब मिल कर एक साथ
इस प्रचार में एक जुट हो जाये
देश की बेटियों को रेप से बचाये
देश की बेटियों को रेप से बचाये

आर के रस्तोगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: