‘‘प्रकृति का प्रतिशोध है या मौत की बारिश’’