युगान्तरकारी परिवर्तन का वर्ष रहा 2014

Posted On by & filed under विविधा

मृत्युंजय दीक्षित वर्ष 2014 अब अलविदा हो रहा है और हम सभी लोग आगामी 2015 की तैयारियों में जुटे हैं। 2014 का विचार मंथन चल रहा है। वर्ष 2014 भारतीय राजनीति में हो रहे बदलावों के लिए हमेशा याद किया जायेगा। यह साल देश की राजनीति को एक नया स्वरूप प्रदान करके जा रहा है… Read more »