सुरेश हिन्‍दुस्‍थानी

स्वतंत्र वेब लेखक व ब्लॉगर

भारत की राष्ट्रभक्ति से बौखलाया चीन

र्तमान में चीन की बौखलाहट का एक कारण यह भी माना जा रहा है कि जिस प्रकार से लम्बे समय से चीन द्वारा भारत के विरोध में कार्यवाही और बयानबाजी की जा रही है, उससे भारत के नागरिकों में चीन के प्रति नकारात्मक वातावरण बना है। भारत के नागरिक जहां किसी भी आतंकवादी हमले पर पाकिस्तान को सोशल मीडिया के माध्यम से खरी खोटी सुनाने में आगे आ रहे हैं, वहीं चीन भी इसकी परिधि में भारतीय नागरिकों के गुस्से का शिकार होता जा रहा है। सोशल मीडिया पर कई बार चीनी सामान न खरीदने की अपील भी देखी जा रही है। दुश्मन देश की वस्तुओं को न खरीदने की इस अपील का भारत में व्यापक प्रभाव भी दिखाई दे रहा है।

वस्तु एवं सेवा कर : समस्या या समाधान

1 जुलाई से लागू होने जा रहा है एक समान कर वाला जीएसटी यानि गुड्स एंड सर्विसिस टैक्स एक ऐसा टैक्स है जो टैक्स के बड़े जाल से मुक्ति दिलाएगा। जीएसटी आने के बाद बहुत सी चीजें सस्ती हो जाएगी जबकि कुछ जेब पर भारी भी पड़ेंगी। लेकिन सबसे बड़ा फायदा होगा कि टैक्स का पूरा सिस्टम आसान हो जाएगा। 18 से ज्यादा टैक्सों से मिलेगी मुक्ति और पूरे देश में होगा सिर्फ एक टैक्स जीएसटी।

अमेरिका ने दिखाया पाकिस्तान को आइना

अमेरिका ने भी आतंकवाद के दंश को करीब से भोगा है। इसके साथ ही विश्व के अनेक देशों ने भी इस्लामिक आतंकवाद का साक्षात्कार किया है। वर्तमान में यह पूरी दुनिया जान चुकी है कि आतंकवाद कितना खतरनाक होता है। कश्मीर घाटी में भारत आतंकवाद को लम्बे समय से भोग रहा है। अमेरिका के डोनाल्ड ट्रम्प ऐसे पहले राष्ट्रपति हैं, जिन्होंने जम्मू कश्मीर सहित भारत के अन्य हिस्सों में आतंकवाद के लिए सीधे तौर पर पाकिस्तान को दोषी ठहराया है।