चुनाव

चुनाव, election

भाजपा घोषणापत्र (लोकसभा चुनाव 2009) का पूरा पाठ

विश्व की प्राचीनतम और जीवंत सभ्यताओं में भारतीय सभ्यता का स्थान अप्रतिम है। भारत का न सिर्फ एक महान अतीत और अत्यन्त प्राचीन इतिहास है, वरन् लोग मानते हैं कि यह एक विराट सम्पदा…

परिवारवाद और जातिवाद के विरूद्ध राष्ट्रवाद का मंत्र फूंके – आडवाणी

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व उपप्रधानमंत्री और राजग के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी लालकृष्ण आडवाणी ने युवा पीढ़ी का आहवान किया कि वे मौजूदा चुनौतियों को स्वीकार करें।

लोकसभा चुनाव परिणाम (1951-2004) / राजनीतिक दल

लोकतंत्र में आम मतदाताओं का जागरूक होना जरूरी है। तभी भारत सशक्‍त लोकतांत्रिक देश बन सकता है। इसी को ध्‍यान में रखते हुए हम प्रवक्‍ता डॉट कॉम पर गम्भीर, तथ्यपूर्ण एवं तर्कपूर्ण बहस को आगे बढाने की दृष्टि से प्रमुख समाचार, विश्‍लेषण और आंकडें प्रस्‍तुत कर रहे हैं-

अब जदयू में नहीं है जॉर्ज फर्नांडिस : नीतिश कुमार

गत 3 अप्रैल को बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतिश कुमार ने कहा कि पार्टी के निर्णय का उल्लंघन कर निर्दलीय के रूप में चुनाव लड़ने के निर्णय के कारण वरिष्‍ठ समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडिस अपने आप पार्टी से बाहर हो गए हैं।

दार्जिलिंग से लोकसभा चुनाव लड सकते हैं जसवंत सिंह

भाजपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग से पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी हो सकते हैं। वरिष्‍ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी ने गुरुवार को गोरखालैंड जनमुक्ति मोर्चा के नेताओं…

चुनावी समर में काँग्रेस बनी रणछोड़दास

लोकसभा चुनावों को लेकर मध्यप्रदेश में भाजपा हर मोर्चे पर बढ़त लेकर बुलंद हौंसलों के साथ आगे बढ़ रही है, जबकि काँग्रेस टिकट बँटवारे को लेकर मचे घमासान में ही पस्त हो गई है…

राज्‍यवार कुल लोकसभा क्षेत्र (2004)

भारत में संसदीय लोकतंत्र है। लोकतंत्र में आम मतदाताओं का जागरूक होना जरूरी है। तभी भारत सशक्‍त लोकतांत्रिक देश बन सकता है। इसी को ध्‍यान में रखते हुए हम प्रवक्‍ता डॉट कॉम पर…

मौका है बदल डालो, अब नहीं तो कब…????

पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम ने देश के मतदाताओं से सही उम्मीदवार को वोट देने का आग्रह किया है। मतदान को सबसे बड़ा अवसर बताते हुए डॉ. कलाम ने कहा है कि हमारे द्वारा चुने गये प्रतिनिधि…

संसद में शिक्षा का बढता स्‍तर

चुनाव आयोग के आंकडों के मुताबिक तीसरी लोकसभा में 141 सांसद 10वीं पास भी नहीं थे लेकिन 14वीं लोकसभा में इसके उलट 157 पोस्ट ग्रेजुएट पहुंचे और दसवीं से नीचे रह गए सिर्फ उन्नीस तथा दसवीं पास 96 व ग्रेजुएट सांसदों की संख्या जा पहुंची 249