“ऋषि दयानन्द का उद्देश्य सद्ज्ञान देकर आत्माओं को