“नास्तिक, ईश्वर के सत्यस्वरूप से अनभिज्ञ, मिथ्या कर्मकाण्ड व उपासना करने वाले मनुष्यों का परलोक वा भविष्य असुखद”

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

  मनमोहन कुमार आर्य,  हम आंखों से जितना व जैसा संसार देखते हैं वह सब और जो नहीं देख पाते वह सब भी सच्चिदानन्द, सर्वज्ञ, सर्वव्यापक और सर्वशक्तिमान परमेश्वर की रचना है। उसी परमात्मा ने सृष्टि के आरम्भ में चार ऋषियों को उत्पन्न कर उनके द्वारा ईश्वर, जीवात्मा और सृष्टि का यथार्थ व सत्य ज्ञान… Read more »

कर्नाटक सत्ता की चाबी राज्यपाल के हाथ

Posted On by & filed under राजनीति

कर्नाटक सत्ता की चाबी राज्यपाल के हाथ प्रमोद भार्गव कर्नाटक विधानसभा चुनाव में मतदाताओं ने त्रिषंकु जनादेश या है। इसके साथ ही राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। लिहाजा कांग्रेस ने तत्परता दिखाते हुए पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगोड़ा की पार्टी जेडीएस को न केवल बिना मांगे समर्थन दे दिया है, बल्कि देवगौड़ा के पुत्र कुमारस्वामी… Read more »

हाइपरटेंशन : जो बनता है किडनी की बीमारियों का कारण

Posted On by & filed under समाज

विश्व हाइपरटेंशन दिवस  Umesh Kumar Singh वल्र्ड हाइपरटेंशन लीग (डब्ल्यूएचएल) द्वारा 2005 में शुरू किया गया विश्व हाइपरटेंशन दिवस उच्च रक्तचाप और संबंधित बीमारियों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रत्येक वर्ष 17 मई को मनाया जाता है। कई अध्ययनों और कहानियों के साथ उच्च रक्तचाप और कार्डिएक बीमारियों के बीच स्थापित संबंध है, लेकिन… Read more »

वाराणसी हादसे से उपजे सवाल

Posted On by & filed under राजनीति

ललित गर्ग:- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में जिस तरह निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गाड़ियों के रेले पर जा गिरा, वह कई स्तरों पर लापरवाही एवं कोताही का संकेत देता है। यह कैसा विकास है? यह कैसी विकास की मानसिकता है, जिसमें लोगों की जान की कोई कीमत नहीं है। लोग… Read more »

कर्नाटक का जनमत किसके पक्ष में है?

Posted On by & filed under राजनीति

चुनावों के दौरान चलने वाला सस्पेन्स आम तौर पर परिणाम आने के बाद खत्म हो जाता है लेकिन कर्नाटक के चुनावी नतीजों ने सस्पेन्स की इस स्थिति को और लम्बा खींच दिया है। राज्य में जो नतीजे आए हैं और इसके परिणामस्वरूप जो स्थिति निर्मित हुई है और उससे जो बातें स्पष्ट हुई हैं आइए… Read more »

बचपन को लीलता होमवर्क का बोझ

Posted On by & filed under समाज

बचपन को लीलता होमवर्क का बोझ  ललित गर्ग छुट्टियां यानी बच्चों के मौज-मस्ती और सीखने का मौसम होता है, जो अब स्कूलों से मिलने वाले होमवर्क के बोझ तले मुरझा रहा है। बेहतर व आधुनिक शिक्षा के नाम पर बच्चों पर आवश्यकता से अधिक होमवर्क का बोझ उनके कोमल मन मस्तिष्क के लिए हानिकारक एवं… Read more »

भाजपा की सरकार, कांग्रेस का नाटक

Posted On by & filed under राजनीति

भाजपा की सरकार, कांग्रेस का नाटक सुरेश हिन्दुस्थानी सरकार बनाने के लिए उठे राजनीतिक तूफान के बीच आखिरकार कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी के नेता बी. एस. येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली। लेकिन सरकार बनने के बाद यह तूफान थम गया हो, ऐसा अभी नहीं लग रहा। कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर… Read more »

कर नाटक तो हो भला

Posted On by & filed under राजनीति

कर नाटक तो हो भला जावेद अनीस   एक बार फिर मई की गर्मियों ने देश के राजनीति में उबाल आया है 2014 में ये 16 मई का दिन था जब देश की जनता ने “अबकी बार मोदी सरकार” के नारे पर मुहर लगा दिया था और अब इसके चार साल बाद 15 मई के… Read more »

वैदिक साधन आश्रम तपोवन में विद्यार्थी और चारित्र निर्माण विषय पर युवा सम्मेलन

Posted On by & filed under समाज

  वैदिक साधन आश्रम तपोवन में विद्यार्थी और चारित्र निर्माण विषय पर युवा सम्मेलन “हमारा चरित्र अच्छा तब बनता है जब हम अपने जीवन में कोई बड़ा लक्ष्य रखते हैं: आशीष दर्शनाचार्य” मनमोहन कुमार आर्य,  वैदिक साधन आश्रम तपोवन, देहरादून के ग्रीष्मोत्सव में युवाओं को वेदों एवं वैदिक संस्कृति से परिचित कराने के लिए ‘‘विद्यार्थी… Read more »

  प्रदूषण कम करने में सबकी सहभागिता जरूरी

Posted On by & filed under चिंतन, समाज

प्रदूषण कम करने में सबकी सहभागिता जरूरी हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनिया के 15 सबसे प्रदूषित शहरों की लिस्ट जारी की है। जिसमें एक दो नहीं बल्कि 14 शहर भारत के हैं। प्रदूषित शहरों की इस लिस्ट में उत्तर प्रदेश का शहर कानपुर जहां पहले स्थान पर है, वहीं राजधानी दिल्ली के… Read more »