मनमोहन आर्य

स्वतंत्र लेखक व् वेब टिप्पणीकार

महाभारत युद्ध के बाद ऋषि दयानन्द जैसे कुछ ऋषि होते तो देश में अविद्या व अन्धविश्वास उत्पन्न न होते

-मनमोहन कुमार आर्य                हमारा देश महाभारत युद्ध के बाद अज्ञान, अन्धविश्वास, पाखण्ड, कुरीतियों वा…

मनुष्य परमात्मा प्रदत्त बुद्धि का विवेकपूर्वक सदुपयोग न कर अपनी व देश-समाज की हानि करता है

-मनमोहन कुमार आर्य                हमारा यह संसार एवं प्राणी जगत ईश्वर की विशिष्ट रचना है।…

हमें ईश्वर को जगत में उसकी चेष्टाओं व क्रियाओं के द्वारा देखना चाहिये

मनमोहन कुमार आर्य                परमात्मा ने हमें मानव शरीर और इसमें पांच ज्ञानेन्द्रियां एवं पांच…

वेदों को हानि उन ब्राह्मण पण्डितों से हुई जिन्होंने सत्य वेदार्थ का अनुसंधान एवं प्रचार नहीं किया

-मनमोहन कुमार आर्य,        वेदों का आविर्भाव सृष्टि के आरम्भ में परमात्मा से हुआ था।…