के. रहमान और शिक्षा का विषाक्तीकरण