:चोराहे पर खड़ा हूँ-बलबीर राणा