नोबेल शांति पुरस्कार विजेता श्री कैलाश सत्यार्थी

 भारत की धरती से उठेगी बच्चों के अधिकारों की आवाज   

बच्चे ही दुनिया का भविष्य हैं। लेकिन 21 सदी में बच्चे ही सबसे ज्यादा असुरक्षित भी हैं। युद्द और आपदा की विभिषिका झलने वाले देशों में सबसे ज्यादा तबाह बच्चे ही हो रहे हैं। युद्द और आपदा प्रभावित देशों में बच्चों की तस्करी बढ़ जाती है। जिनसे बाल मजदूरी और वेश्यावृत्ति कराई जाती है। सीरिया में तो पूरी एक पीढ़ी ही अपने अधिकारों से वंचित है।