विकास के नाम पर प्रशस्त होता विनाश का मार्ग