विविधता ही भारत की मूल पहचान