साहित्यकार भी दर्शनार्थ