मार्क्सवादियों का हिंदू विरोध!

Posted On by & filed under राजनीति

अभी समाचारों में हैं। उनकी पुस्तक दिल्ली विश्वविद्यालय की पाठ्य-सूची से हटा दी गई है, जिस में भगत सिंह को ‘आतंकवादी’ कहा गया था। यदि बिपन चंद्र होते, तो उसी तरह अपना बचाव करते जैसे उन के सहयोगी कर रहे हैं। वे कहते कि आतंकवादी का जो अर्थ अब है, वह तब न था। इस… Read more »