How long will a character like Pyaremi continue to appear?

कब तक सामने आते रहेंगे प्यारेमियाँ जैसे चरित्र ?

“हर चेहरे पर नकाब है यहाँ बेनकाब कोई चेहरा नहीं हर दामन में दाग है यहाँ बेदाग कोई दामन नहीं। यह अजीब शहर है जहाँ औरत बेपर्दा कर दी जाती है लेकिन सफेदपोशों के नकाब कायम हैं यहाँ” मध्यप्रदेश की राजधानी एक बार फिर कलंकित हुई। एक बार फिर साबित हुआ...

22 queries in 0.319