मनमोहन आर्य

स्वतंत्र लेखक व् वेब टिप्पणीकार

वेद दो पाये पशु को मनुष्य बनाने के साथ उसे ईश्वर से मिलाते हैं

–मनमोहन कुमार आर्य                संसार में जीवात्माओं को परमात्मा की कृपा से अपने-अपने कर्मानुसार भिन्न-भिन्न…

हम ईश्वर की आज्ञा के पालन, सुख एवं वायु शुद्धि हेतु यज्ञ करते हैं

–मनमोहन कुमार आर्य                वेदों के मर्मज्ञ व विख्यात विद्वानों में अपूर्व ऋषि दयानन्द सरस्वती…

सन् 1909 में पटियाला राजद्रोह केस में अंग्रेज सरकार का आर्यसमाज व इसके अनुयायियों पर अत्याचार

–मनमोहन कुमार आर्य                पराधीनता के युग में अंग्रेज सरकार ने आर्यसमाज के प्रति कू्ररता…

हे ईश्वर! आप हमें भौतिक व आध्यात्मिक उन्नति के लिए सद्बुद्धि प्रदान करें”

-मनमोहन कुमार आर्य                परमात्मा ने मनुष्य को शरीर दिया है जिसमें अनेक बाह्य एवं…

“स्वामी दर्शनानन्द सरस्वती का आर्यसमाज के इतिहास में गौरवपूर्ण स्थान”

आर्यसमाज के महाधन स्वामी दर्शनानन्द जी– -मनमोहन कुमार आर्य                स्वामी दर्शनानन्द जी का आर्यसमाज…

ईश्वर सदा-सर्वदा सबको प्राप्त है किन्तु सदोष अन्तःकरण में उसकी प्रतीती नहीं होती

–मनमोहन कुमार आर्य                वैदिक सिद्धान्त है कि संसार में ईश्वर, जीव और प्रकृति तीन…