“भाषा, भाषा से बनती है और आदि व मूल भाषा ईश्वर से प्राप्त होती है”

“भाषा, भाषा से बनती है और आदि व मूल भाषा ईश्वर से प्राप्त होती है”

आज संसार में जितनी भी भाषायें हैं इनका अस्तित्व अपनी पूर्व भाषा में अपभ्रंशों, विकारों, सुधारों व भौगोलिक कारणों से हुआ है। हम बचपन में जो भाषा बोलते थे उसमें और हमारे द्वारा वर्तमान में बोली जाने वाली भाषा में…

अब तो केवल विश्व नेता बनने की तमन्ना ही मोदी जी के दिल में है

अब तो केवल विश्व नेता बनने की तमन्ना ही मोदी जी के दिल में है

न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र महा सभा को सम्बोधित करते हुए भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी से जो हिमालयी चुकें हुई हैं -उनकी भरपाई उन्होंने ‘मेडिसन इस्कवॉयर ‘ के अपने अगले – सम्बोधन में दुरुस्त करने की पुरजोर कोशिश की है।लेकिन…

मोदी युग में गांधी-नेहरू का उतरता जुआ

मोदी युग में गांधी-नेहरू का उतरता जुआ

राष्ट्रदेव की आराधना के लिए मां भारती का सच्चा सेवक कोई ‘मोदी’ ही हो सकता है। राष्ट्र आराधना और ‘मां भारती’ की सेवा के समक्ष अन्य सब बातों को गौण समझ लेना ही जीवन ध्येय की सार्थकता है। इस कत्र्तव्य…

दाँत का दर्द

दाँत का दर्द

दाँत के दर्द ने बहुत सताया, तो डैंटिस्ट को जाकर दुखड़ा सुनाया। दाँत की जड़ से नहर निकाली, नहर का इलाज कराया। [root canal treatment] घिस घिस का दाँत आधा कर दिया, उसके ऊपर मुकुट[crown] पहनाया। एक दाँत निकाला, दो…

यह हौसलों की उड़ान है

यह हौसलों की उड़ान है

यह हौसलों की उड़ान है। भूटान – थैम्पू से अमेरिका ;वाशिंगटन डीसी तक! नगर निगम से केन्द्रीय मंत्रालय तक! देश और विदेश में, समाज और भारतवासियों के सभी वर्गों और समुदायों के मध्य! उनके कार्यप्रणाली, उठाये जाने वाले कदमों की…

क्या समूचे भारत मे खिल पाएगा ‘कमल’ ?

क्या समूचे भारत मे खिल पाएगा ‘कमल’ ?

रोहित श्रीवास्तव गतवर्षो मे भारतीय जनता पार्टी ने देश के कुछ राज्यो मे अपना स्थिर साम्राज्य स्थापित कर लिया है। चाहे बात हो गुजरात की या फिर छत्तीसगढ़ .. मध्य प्रदेश….. या राजस्थान की … जहां खोया हुआ साम्राज्य हाल…

हांफती जिंदगी और त्योहार…!!

हांफती जिंदगी और त्योहार…!!

तारकेश कुमार ओझा काल व परिस्थिति के लिहाज से एक ही अवसर किस तरह विपरीत रुप धारण कर सकता है, इसका जीवंत उदाहरण हमारे तीज – त्योहार हैं। बचपन में त्योहारी आवश्यकताओं की न्यूनतम उपलब्धता सुनिश्चित न होते हुए भी…

थप्पड़शास्त्र

थप्पड़शास्त्र

आजकल थप्पड़ वाला फैशन चल रहा है | पहले जूते फेंकने का था | पर अब वो आउटडेटेड हो गया है | जूता वाला फैशन सक्सेसफुल नहीं था | कई पेंच थे उसमे सबसे बड़ा झंझट था निशाना लगाने का…

Honor Killing

Honor Killing

 Honor Killing के लियें हिन्दी मे कोई सही शब्द नहीं मिल रहा, इसलियें हिन्दी लेख का शीर्षक इंगलिश मे देने के लिये मजबूर हूँ।Honor Killing का शाब्दिक अर्थ तो सम्मान हत्या हुआ, इसका अर्थ क्या निकालें सम्मान की हत्या या…

प्रवक्ता डॉट कॉम द्वारा तृतीय लेख प्रतियोगिता का आयोजन

प्रवक्ता डॉट कॉम द्वारा तृतीय लेख प्रतियोगिता का आयोजन

प्रवक्‍ता डॉट कॉम के 6 साल पूरे होने पर तृतीय लेख प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। विदित हो कि इससे पूर्व भी ‘प्रवक्‍ता’ द्वारा दो बार लेख प्रतियोगिता का आयोजन हो चुका है। प्रवक्‍ता डॉट कॉम एक वैचारिक…

Page 1 of 1,15812345...Last »
साहित्य

  • hello
  • test
  • test
मनोरंजन

प्रवक्ता न्यूज़

1