• वित्त मंत्री जेटली का बजटीय भाषण तथा प्रस्तुत बजट

    arun jaitely
    प्रोफेसर महावीर सरन जैन वित्त मंत्री जेटली के बजटीय भाषण तथा प्रस्तुत बजट ने जनता की आशाओं, उम्मीदों तथा आकांक्षाओं को निराशा में बदल दिया है। जो सरकार महँगाई छू मन्तर करने के वायदे के आधार पर सत्ता में आई, उसने सत्ता में आने के दो महीनों के अन्दर महँगाई ... Read more »
  • बाजार को बढ़ावा देने वाला बजट

    -प्रमोद भार्गव- रेल बजट ने ही नरेंद्र मोदी सरकार के बजट की दिशा तय कर दी थी। जाहिर है, आम बजट भी उसी दिशा आगे बढ़ना था। जिस तरह से रेलवे में एफडीआई और पीपीपी को प्रोत्साहित करने की खिड़कियां खोली गई हैं, उसे आगे बढ़ाते हुए आम बजट में ... Read more »
  • अस्तित्व के लिए छटपटाती कांग्रेस

    -प्रवीण दुबे- 'रस्सी जल गई परन्तु बल नहीं गए' कांग्रेस पर यह कहावत पूरी तरह सही साबित होती है। एक तरफ वह लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद प्राप्त करने के लिए सरकार पर दबाव बना रही है तो दूसरी ओर रेल बजट के बाद उसके नेताओं का उग्र प्रदर्शन ... Read more »
  • उम्मीदों से भरा मोदी सरकार का पहला बजट

    -रमेश पाण्डेय- मोदी सरकार के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2014-15 का बजट पेश किया। इस बजट का देश को इंतजार था। एक आम नागरिक हमेशा यह चाहता है कि उस पर से टैक्स का बोझ कुछ घटे, इस नजरिये से देखें, तो इनकम टैक्स की सीमा ... Read more »
  • दिखा समाज का ‘बदनुमा’ चेहरा

    -रमेश पाण्डेय- समाज में अभी भी ऐसे लोग विद्यमान हैं, जिनकी सोच में हैवानियत है। उनके निर्णय भी हैवानियत से भरपूर होते हैं। ऐसे निर्णय ही समाज के चेहरे को कलंकित, दागदार और बदनुमा बना देते हैं। ऐसा ही एक प्रकरण झारखंड राज्य के बोकारो जिले के गोमिया थाने के गुलगुलिया ... Read more »

वित्त मंत्री जेटली का बजटीय भाषण तथा प्रस्तुत बजट

arun jaitely

प्रोफेसर महावीर सरन जैन वित्त मंत्री जेटली के बजटीय भाषण तथा प्रस्तुत बजट ने जनता की आशाओं, उम्मीदों तथा आकांक्षाओं को निराशा में बदल दिया है। जो सरकार महँगाई छू मन्तर करने के वायदे के आधार पर सत्ता में आई,…

बाजार को बढ़ावा देने वाला बजट

-प्रमोद भार्गव- रेल बजट ने ही नरेंद्र मोदी सरकार के बजट की दिशा तय कर दी थी। जाहिर है, आम बजट भी उसी दिशा आगे बढ़ना था। जिस तरह से रेलवे में एफडीआई और पीपीपी को प्रोत्साहित करने की खिड़कियां…

अस्तित्व के लिए छटपटाती कांग्रेस

-प्रवीण दुबे- ‘रस्सी जल गई परन्तु बल नहीं गए’ कांग्रेस पर यह कहावत पूरी तरह सही साबित होती है। एक तरफ वह लोकसभा में विपक्ष के नेता का पद प्राप्त करने के लिए सरकार पर दबाव बना रही है तो…

उम्मीदों से भरा मोदी सरकार का पहला बजट

-रमेश पाण्डेय- मोदी सरकार के वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को वित्तीय वर्ष 2014-15 का बजट पेश किया। इस बजट का देश को इंतजार था। एक आम नागरिक हमेशा यह चाहता है कि उस पर से टैक्स का बोझ…

दिखा समाज का ‘बदनुमा’ चेहरा

-रमेश पाण्डेय- समाज में अभी भी ऐसे लोग विद्यमान हैं, जिनकी सोच में हैवानियत है। उनके निर्णय भी हैवानियत से भरपूर होते हैं। ऐसे निर्णय ही समाज के चेहरे को कलंकित, दागदार और बदनुमा बना देते हैं। ऐसा ही एक…

ईराक की तबाही का मंजर!

-फख़रे आलम- ईराक की तबाही का मंजर दुनिया ने देखी। ईराक देश तबाह हुआ, जनता तबाह हुई और वहां पर काम करने वाले तबाह और बर्बाद हुए। आखिरकार अमेरिका ने ईराक को क्यों तबाह किया? अमेरिका ने ईराक को वर्तमान…

अफगान राष्ट्रपति का चुनाव -दूसरा चरण-

-फख़रे आलम- राष्ट्रपति चुनाव का प्रथम चरण जिस प्रकार से शान्ति और सौहार्द से सम्पन्न हो गया। दूसरा चरण उतना ही पेचिदा और चुनौतीपूर्ण दिखााई देने लगा है। अंतिम और दूसरे चरण का मतदान खतरनाक बनता जा रहा है। प्रथम…

कैसे सुधरेंगे ‘धरती के भगवान’

-रमेश पाण्डेय- चिकित्सक को धरती पर दूसरे भगवान का दर्जा दिया गया है। चिकित्सक से यह उम्मीद पूरे समाज को रहती है कि वह अपनी मानवतावादी दृष्टिकोण से हर अमीर और गरीब के साथ न्याय करेगा। इसके इतर इन दिनों…

भाषा की गरीबी: गरीबी उन्मूलन के लिए पहले भाषा की गरीबी हटानी पड़ेगी

language

-विराट दिव्यकीर्ति- नरेंद्र मोदी सरकार ने हाल ही में ‘हिन्दी पहले’ का आग्रह क्या किया एक अच्छी खासी बहस शुरू हो गयी. आधुनकि भारत में भाषा का प्रश्न कई बार उठाया गया है. हिन्दी भाषी बहुसंख्यकों को लगता है कि…

शाह को कमान से फायदे में भाजपा

-सिद्धार्थ शंकर गौतम- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सबसे करीबी और विश्वसनीय मगर विवादित व्यक्ति अमित शाह को भारतीय जनता पार्टी का नया अध्यक्ष बनाया जाना पार्टी के इस प्रमुख चुनाव रणनीतिकार के लिए एक असाधारण और तेज प्रगति है| अमित…

आग में खाक होती जिंदगी

-अरविंद जयतिलक- आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में भारतीय गैस प्राधिकरण लिमिटेड (गेल) की गैस पाइपलाइन में हुए विस्फोट में 19 लोगों की दर्दनाक मौत और डेढ़ दर्जन से अधिक लोगों का बुरी तरह झुलसना रेखांकित करता है कि…

घोषणाओं पर अमल होना जरूरी

-रमेश पाण्डेय- रेल बजट में रेल मंत्री सदानंद गौड़ा ने यात्री सुविधा, सुरक्षा के साथ-साथ बुलेट ट्रेन और कई रूटों पर हाई स्पीड ट्रेन चलाने की घोषणा की है। सवाल है कि मौजूदा संसाधनों के भरोसे इसे कैसा पूरा किया…