जावेद अख़्तर को सोच, साहित्य और संस्कार विरासत में मिले हैं

Posted On by & filed under शख्सियत, सिनेमा

-अनिल अनूप जावेद अख़्तर एक कामयाब पटकथा लेखक, गीतकार और शायर होने के अलावा एक ऐसे परिवार के सदस्य भी हैं जिसके ज़िक्र के बग़ैंर उर्दू अदब का इतिहास पूरा नहीं कहा जा सकता। जावेद अख़्तर प्रसिद्ध प्रगतिशील शायर जाँनिसार अख़्तर और मशहूर लेखिका सफ़िया अख़्तर के बेटे और प्रगतिशील आंदोलन के एक और जगमगाते… Read more »

दलितों में आज भी है मायावती की लोकप्रियता

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

(मायावती के 61वें जन्मदिवस 15 जनवरी 2017 पर विशेष) उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती का जन्म 15 जनवरी 1956 को दिल्ली में एक दलित परिवार में हुआ था। मायावती के पिता का नाम प्रभुदयाल और माता का नाम रामरती था। मायावती के छः भाई और दो बहनें हैं। इनका पैतृक गाँव बादलपुर है जो… Read more »

चलो दिलदार चलो, चाँद के पार चलो’…

Posted On by & filed under शख्सियत, सिनेमा

अनिल अनूप जी हाँ, अज़ीम फनकारों के साथ ये अक्सर ही हुआ कि वो जहाँ जिस हाल में जन्मे और पले-बढ़े, दिल से बस यही सदा निकली I आज हम जिस संवाद अदायगी और जिन संवादों के लिए तरसते हैं, उसकी शुरुआत कमाल साहेब ने की थी। उसे संवारा था अबरार अल्वी ने। अबरार साहेब… Read more »

स्वामी विवेकानंद से प्रेरणा लें युवा

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

राष्ट्रीय युवा दिवस 12 जनवरी पर विशेष -डॊ.सौरभ मालवीय युवा शक्ति देश और समाज की रीढ़ होती है. युवा देश और समाज को नए शिखर पर ले जाते हैं. युवा देश का वर्तमान हैं, तो भूतकाल और भविष्य के सेतु भी हैं. युवा देश और समाज के जीवन मूल्यों के प्रतीक हैं.  युवा गहन ऊर्जा… Read more »

तेजिंद्र चौहान: व्यक्ति एक प्रतिभाएं अनेक

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

तेजिंद्र चौहान संगीत के भी बेहद प्रेमी हैं। उच्चकोटि का संगीत तथा स्तरीय गायन उन्हें बहुत पसंद है। वे अपने जीवन में सबसे अधिक नुसरत फतेह अली खां तथा मेंहदी हसन जैसे गायकों को सुनना पसंद करते हैं। नुसरत फतेहअली व मेंहदी हसन के गाए हुए शायद ही कोई गीत,गज़ल या कव्वाली ऐसी हो जो उनके पास न हो।

मिर्जा ग़ालिब का जीवन व आगरा की हवेली

Posted On by & filed under गजल, शख्सियत, साहित्‍य

डा. राधेश्याम द्विवेदी जन्म व परिवार :- मिर्जा ग़ालिब का जन्म 27 दिसंबर सन् 1796 को आगरा के काला महल में हुई थी । गालिब ने अपनी जिंदगी का लंबा वक्त आगरा शहर के बाजार सीताराम की गली कासिम जान में बनी हवेली में गुजारा है। इस हवेली को संग्रहालय का रुप दे दिया गया… Read more »

देश की आन बान व शान के रक्षक शहीद उधम सिंह जी

Posted On by & filed under विविधा, शख्सियत

-मनमोहन कुमार आर्य, देहरादून। आज शहीद ऊधम सिंह (जन्म 26-12-1899, मृत्यु 31-7-1940, जीवन 40 वर्ष 7 महीने 5 दिन) की 117 वीं जयन्ती है। ऊधम सिंह जी हमें पंजाब की धरती सुनामख् संगरूर से मिले थे जहां से हमें विगत एक शताब्दी में लाला लाजपत राय, स्वामी श्रद्धानन्द, सरदार भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव जी… Read more »

जेटली की जिंदगी का राजनीतिक मायाजाल

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

निरंजन परिहार- अरुण जेटली का अतीत दुनियादारी के अंदाज में काफी सफल रहा है। दिल्ली युनिवर्सिटी में जब वे पढ़ते थे, तब भले ही बस के पैसे भी उनके पास नहीं हुआ करते थे, लेकिन आज सैकंड के हिसाब से वकालात की फीस की गणना करनेवाले देश के शिखर के वकीलों में जेटली नंबर वन… Read more »

कई उपेक्षाओं को झेलकर मुकाम पा सकी विद्या बालन

Posted On by & filed under शख्सियत, सिनेमा

-अनिल अनूप विद्या बालन का जन्म 1 जनवरी 1978 को केरल में हुआ था। उनके पिता का नाम पी. आर बालन हैं जोकि डीजीकेबल के एग्जीक्यूटिव वाइस प्रेसीडेंट हैं। उनकी माँ का नाम सरस्वती बालन है, जोकि एक ग्रहणी हैं। विद्या तमिल,मलयालम,हिंदी, और अंग्रेजी भाषा में पारंगत हैं। विद्या की एक बहन है-प्रिया बालन। बॉलीवुड… Read more »

लेखक, निर्माता,अभिनेता के साथ कुशल समाजसेवक भी हैैं नाना पाटेकर

Posted On by & filed under शख्सियत, सिनेमा

अनिल अनूप नाना पाटेकर भारतीय फिल्‍मों के अभिनेता हैंl वे लेखक और फिल्‍म निर्माता भी हैं lनाना हिन्‍दी फिल्‍मों के मशहूर अभिनेता माने जाते हैंl उनके अभिनय के सभी कायल हैं और यही कारण है कि उन्‍हें आज तक कई बार राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार और फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया जा चुका है lउन्‍हें पद्मश्री… Read more »