लेखक परिचय

ब्रह्मानंद राजपूत

ब्रह्मानंद राजपूत

आज न्यूनतम मजदूरी का कानून बनाने और उसका कड़ाई से पालन करने की जरूरत

Posted On & filed under महत्वपूर्ण लेख.

(अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस, 01 मई 2018 पर विशेष आलेख) ब्रह्मानंद राजपूत हर वर्ष अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस मई महीने की पहली तारीख को मनाया जाता है।अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस को मई दिवस भी कहकर बुलाया जाता है। अमेरिका में 1886 में जब मजदूर संगठनों द्वारा एक शिफ्ट में काम करने की अधिकतम सीमा 8 घंटे करने के… Read more »

किशोरी अमोनकर के शास्त्रीय संगीत में भारतीय संस्कृति की आत्मा बसती थी

Posted On & filed under विविधा, सिनेमा.

(86वें जन्मदिवस 10 अप्रैल 2018 पर विशेष आलेख) किशोरी अमोनकर एक भारतीय शास्त्रीय गायक थीं। जिन्होंने अपने शास्त्रीय संगीत के बल पर दशकों तक हिन्दुस्तान के संगीत प्रेमियों के दिल में अपनी जगह बनाये रखी। किशोरी अमोनकर का जन्म 10 अप्रैल 1932 को मुंबई में हुआ था। किशोरी अमोनकर को हिंदुस्तानी परंपरा के अग्रणी गायकों… Read more »



टीबी से बचाव ही टीबी का बेहतर उपचार

Posted On & filed under विविधा.

(विश्व क्षय रोग दिवस, 24 मार्च पर विशेष आलेख) टीबी (क्षय रोग) एक घातक संक्रामक रोग है जो कि माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरक्लोसिस जीवाणु की वजह से होती है। टीबी (क्षय रोग)  आम तौर पर ज्यादातर फेफड़ों पर हमला करता है, लेकिन यह फेफड़ों के अलावा शरीर के अन्य भागों को भी प्रभावित कर सकता हैं। यह रोग… Read more »

श्रीदेवी : एक लंबी अत्यंत सफल यात्रा का अचानक से अंत हो जाना

Posted On & filed under विविधा, शख्सियत, सिनेमा.

  भारतीय सिनेमा की सबसे लोकप्रिय अभिनेत्रियों में से एक दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी का जन्म तमिलनाडु के शहर शिवकासी में 13 अगस्त 1963 को हुआ। उनके पिता का नाम अय्यपन और मां का नाम राजेश्वरी है। उनके पिता पेश से वकील और माँ ग्रहणी थीं। श्रीदेवी के पिता जहां तमिल थे तो वहीं मां तेलुगू… Read more »

जीवंत और मजबूत राष्ट्र के निर्माण में महिलाओं का योगदान महत्वपूर्ण

Posted On & filed under महिला-जगत, समाज.

(अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस 08 मार्च पर विशेष आलेख) हम विश्व में लगातार कई वर्षों से अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाते आ रहे हैं, महिलाओं के सम्मान के लिए घोषित इस दिन का उद्देश्य सिर्फ महिलाओं के प्रति श्रद्दा और सम्मान बताना है। इसलिए इस दिन को महिलाओं के आध्यात्मिक, शैक्षिक, आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के… Read more »

गणतंत्र दिवस : भारतीय संविधान और गणतंत्र के प्रति अपनी वचनबद्धता दोहराने का दिन

Posted On & filed under विविधा.

69वें गणतंत्र दिवस पर विशेष आलेख गणतंत्र दिवस हर वर्ष जनवरी महीने की 26 तारीख को पूरे देश में देश प्रेम की भावना से ओत-प्रोत होकर मनाया जाता है। भारत के लोग हर साल 26 जनवरी का बेसब्री से इंतजार करते हैं, क्योंकि 26 जनवरी को ही 1950 में भारतीय संविधान को एक लोकतांत्रिक प्रणाली… Read more »

‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’, राष्ट्र के प्रति कर्तव्य की याद दिलाने का दिन

Posted On & filed under जन-जागरण, विविधा.

‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’, 25 जनवरी 2018 पर विशेष आलेख भारत में राष्ट्रीय मतदाता दिवस हर साल 25 जनवरी को मनाया जाता है। यह दिवस भारत के प्रत्येक नागरिक के लिए अहम है। इस दिन भारत के प्रत्येक नागरिक को अपने राष्ट्र के प्रत्येक चुनाव में भागीदारी की शपथ लेनी चाहिए, क्योंकि भारत के प्रत्येक व्यक्ति… Read more »

ओमपुरी भारतीय सिनेमा के एक मंझे हुए कलाकार थे

Posted On & filed under शख्सियत, समाज, सिनेमा.

ओमपुरी की प्रथम पुण्यतिथि 06 जनवरी 2018 पर विशेष महान कलाकार ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1950 में हरियाणा के अम्बाला शहर में एक पंजाबी परिवार में हुआ। ओम पुरी के पिता भारतीय सेना में थे। अमरीश पुरी और मदन पुरी उनके चचेरे भाई थे। ओमपुरी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने ननिहाल पंजाब के… Read more »

हिमालय जैसे विराट व्यक्तिगत के धनी हैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Posted On & filed under राजनीति.

नरेंद्र मोदी ऐसी शख्सियत का नाम है जो कभी भी आलोचनाओं से घबराता नहीं है। बल्कि अपनी आलोचनाओं का आत्म मूल्यांकन कर अपनी कमियों को सुधारने की कोशिश करता है। यही खूबी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दूसरे राजनीतिज्ञों से अलग बनाती है। अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता की बात की जाए तो आज के… Read more »

बिना हिंदी के हिन्दुस्तान की कल्पना नहीं की जा सकती

Posted On & filed under विविधा.

14 सितंबर 2017 हिंदी दिवस पर विशेष हिंदी शब्द है हमारी आवाज का हमारे बोलने का जो कि हिन्दुस्तान में बोली जाती है। आज देश में जितनी भी क्षेत्रीय भाषाएँ हैं उन सबकी जननी हिंदी है। और हिंदी को जन्म देने वाली भाषा का नाम संस्कृत है। जो कि आज देश में सिर्फ प्रतीकात्मक रूप… Read more »