लेखक परिचय

विनोद कुमार सर्वोदय

विनोद कुमार सर्वोदय

राष्ट्रवादी चिंतक व लेखक ग़ाज़ियाबाद

“कैसे कम हो इस्लामिक कट्टरवाद” 

Posted On & filed under समाज.

यह कैसी विचारधारा हैं कि हिन्दू घर्मनिरपेक्ष रहकर प्यार-मोहब्बत फैलाये पर मुसलमान धार्मिक कट्टरता की संकीर्णता से उपजी घृणा व वैमनस्यता के जंजाल से बाहर ही न निकले ? ऐसे में एक तरफ़ा केवल हिन्दू समाज से ही यह उपेक्षा क्यों की जाती है कि वह ही आगे बढ़ कर हिन्दू-मुस्लिम मतभेद और विरोध  दूर… Read more »

नेतृत्व के अभाव से जूझती “कांग्रेस”_

Posted On & filed under राजनीति.

लोकतांन्त्रिक मूल्यों पर आधारित राजनीति करने वाले नेताओं व विरासत में मिली नेतागिरी में अंतर समझना हो तो राहुल गांधी के नित्य नये नये बचकाने बयानों को समझों । मूलतः नेहरु-गांधी की विरासत से देश की मुख्य पार्टी ‘कांग्रेस’ के उपाध्यक्ष बनें राहुल वर्षो से राजनीति में अपने को स्थापित करने में लगे हुए है… Read more »



“आई एस आई” आतंकवाद का पोषक          

Posted On & filed under विविधा.

अधिक पीछे न जाते हुए केवल पिछले 2-3  वर्ष की गुप्तचर विभाग की सूचनाओँ में आईएसआई द्वारा हमारे देश में आतंकवादियों को उकसाने व भड़काने के महत्वपूर्ण समाचार आये है। जिससे राष्ट्रीय पत्रकारिता  के सकारात्मक संकेत मिलने से मीडिया जगत की अनेक भ्रांतियां दूर हुई। साथ ही केंद्रीय सत्ता में  परिवर्तन से भी समाज में… Read more »

रोहिंग्या घुसपैठ__जिहादी षड्यंत्र

Posted On & filed under राजनीति.

अगर रोहिंग्या मुसलमानों की घुसपैठ के संकट को सांप्रदायिक द्रष्टि से न देखें तो क्या वैश्विक जिहाद को नियंत्रित किया जा सकता है ?  यह कटू सत्य है कि विश्वव्यापी इस्लामिक आतंकवाद को प्रायः कट्टरपन और वैश्विक आतंकवाद कहकर सरल कर दिया जाता है, क्यों ?  इस अज्ञानता का इससे बड़ा प्रमाण और क्या होगा… Read more »

हिंदुत्व का मूल तत्वों को पहचानो

Posted On & filed under समाज.

हिंदुत्व के मूल तत्व और सिद्धांतों की अवहेलना करके वर्षो से राष्ट्रीय हितों को आहत किया जाना प्रायः सामान्य हो गया है। देश की प्राचीन संस्कृति व सभ्यता और अपने ही प्रेरणाप्रद व आदर्श महापुरुषों के विरुद्ध नकारात्मक वातावरण बनाना प्रगतिशीलता बनता जा रहा है। जबकि ऐसे अन्यायों के विरुद्ध हिंदुओं के  आक्रोशित होने को… Read more »

रोहिंग्या मुसलमानों का विरोध क्यों ….

Posted On & filed under विविधा.

रोहिंग्या मुस्लिम घुसपैठियों का हर संभव विरोध करना होगा नही तो ये मानवता के नाम पर दानव बन कर बंग्लादेशी घुसपैठियों के समान हमें लूटते रहेंगे और धीरे धीरे हमारे संसाधनों पर अधिकार कर लेगें। धर्म और देश की रक्षार्थ ऐसे घुसपैठियों को जो बसे हुए है उन्हें भी किसी भी स्थिति में अपने देश… Read more »

पाकिस्तानी हिन्दुओं की पीड़ा भी जानों…    

Posted On & filed under राजनीति.

पाकिस्तान में फिर एक और हिन्दू लड़की का वहां के एक दबंग जमींदार आमिर वासन ने अपहरण किया फिर उसका बलात धर्मांतरण करके उससे निकाह कर लिया है।  धार्मिक आधार पर हिन्दू-मुस्लिम विभाजन के पश्चात बनें पाकिस्तान में एक और घटना जो सिंध प्रांत के खैरपुर जिले की है , पूर्व के समान हज़ारों- लाखों… Read more »

साधू नहीं__ शैतान हूं __मैं

Posted On & filed under विविधा.

गुरमीत सिंह उर्फ़ रामरहीम के अत्याचारों, दुराचारों व झूठे चमत्कारों के नित्य आने वाले समाचारों से यह ज्ञात हो रहा है कि सच्चा डेरा सौदा का मुखिया कोई बाबा नहीं किसी बल्कि किसी अंधविश्वासियों का माफिया डॉन है |  उसके अत्याचारों का कच्चा चिठ्ठा जैसे जैसे खुलता जा रहा है वैसे वैसे  चालबाज़ गुरमीत स्वयं… Read more »

रोहिंग्या मुसलमानो की घुसपैठ —

Posted On & filed under समाज.

भारत में मानवाधिकार के नाम पर रोहिंग्या मुसलमानों को बसाने का प्रयास किया जा रहा है। आतंकी याकूब मेमन के अधिवक्ता रहें प्रशांत भूषण इन रोहिंग्या मुस्लिम घुसपैठियों की वकालत करके इनको यहां मानवता के नाम पर  बसाना चाहते है। परंतु क्या यह कोई सुनिश्चित कर सकता है कि रोहिंग्या मुसलमान भारत में घुसपैठ करके… Read more »

अंधभक्ति का दुष्परिणाम, विवश प्रशासन व पीड़ितजन 

Posted On & filed under समाज.

यह अत्यंत दुखद है कि गुरु-शिष्य परंपरा हमारी संस्कृति का अटूट अंग होने से प्रायः सामान्य भोले-भाले व अशिक्षित या कम शिक्षित ही इस परंपरा में अधिक सक्रिय होते रहें है। समाजिक जीवन में पुरुषों की जीवनयापन के लिये धनोपार्जन की अधिक व्यस्तता के कारण अधिकांश महिलाएं ही गुरु बना कर उनसे भजन-कीर्तन व सत्संग… Read more »