लेखक परिचय

प्रमोद भार्गव

प्रमोद भार्गव

लेखक प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया से जुड़े वरिष्ठ पत्रकार है ।

स्वतंत्रता के बाद स्वावलंबन का प्रश्न

Posted On & filed under राजनीति, समाज.

प्रमोद भार्गव 15 अगस्त 1947 की आधी रात को खंडित स्वतंत्रता स्वीकारने के बाद बड़ा सवाल आर्थिक विकास और स्वाबलंबन का था। स्वावलंबन ही वह आधार है, जो नागरिक और उसके पारिवारिक सदस्यों की आजीविका और रोजागार के संसाधनों को उपलब्ध कराने का काम आसान करता है। यह इसलिए जरूरी था, क्योंकि ब्रिटिश   हुक्मरानों ने… Read more »

संदर्भः प्रेमचंद जयंती 31 जुलाई पर विशेष –

Posted On & filed under शख्सियत.

मुंशी प्रेमचंद की गाय प्रमोद भार्गव कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की एक कहानी हैं ‘मुक्तिधन‘ इस कहानी का शीर्षक  गाय भी हो सकता था, क्योंकि कहानी गाय के इर्द-गिर्द घूमती है। आज कथित गो-रक्षा को लेकर बहुत हिंसक उत्पात देखने में आ रहे हैं। रक्षा को लेकर गाहे-बगाहे भीड़-तंत्र खड़ा हो रहा है, जो हत्या… Read more »



भारत में गिनती के रह गए हैं बाघ

Posted On & filed under राजनीति, समाज.

प्रमोद भार्गव भारत में इस समय 21 राज्यों के 30,000 बाघ के रहवासी क्षेत्रों में गिनती का काम चल रहा है। 2018 में प्रथम चरण की हुई इस गिनती के आंकड़े बढ़ते क्रम में आ रहे है। यह गिनती चार चरणों में पूरी होगी। बाघ गणना बाघ की जंगल में प्रत्यक्ष उपस्थिति की बजाय, उसकी… Read more »

राहुल ने आंख चमकाकर संसद की गिराई गरिमा ?

Posted On & filed under राजनीति.

प्रमोद भार्गव लोकसभा में सवा चार साल पुरानी राजग सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर कारगर ढंग से राजनीतिक हमले किए। सरकार की नाकामियां गिनाते हुए फ्रांस के साथ हुई राफेल विमान खरीद सौदे को कठघरे में खड़ा किया… Read more »

महिला आरक्षण पर कांग्रेस का सियासी दांव

Posted On & filed under राजनीति.

प्रमोद भार्गव संसद का मानसून सत्र शुरू होने से ठीक पहले कांग्रेस और भाजपा में जंग तेज होती दिख रही है। तीन तलाक को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कांग्रेस पर तंज कसने के बाद अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने महिला आरक्षण विधेयक पारित करने के सिलसिले में मोदी को पत्र लिखकर सियासी चाल… Read more »

अर्थव्यवस्था की ऊंचाई पर भारत

Posted On & filed under राजनीति.

प्रमोद भार्गव यह भारतवासियों के लिए खुशी  की बात है कि भारत फ्रांस को पछाड़कर दुनिया की आर्थिक रूप से छठी ताकत बन गया है। इसके पहले हम सातवें स्थान पर थे। अब हमसे आगे अमेरिका, चीन, जापान, जर्मनी और ब्रिटेन ही हैं। इसके पहले भारत सातवें स्थान पर था, जिसने फ्रांस को एक सीढ़ी… Read more »

डीएनए कानूनः अपराधियों की करेगा खोज

Posted On & filed under राजनीति.

  प्रमोद भार्गव केंद्रीय मंत्री-मंडल ने डीएनए प्रोफाइलिंग बिल यानी, ‘मानव डीएनए सरंचना विधेयक‘ को मंजूरी दे दी है। यह विधेयक मानसून सत्र में पारित हो सकता है। डाटा बैंक में देश  के लोगों की डीएनए प्रोफाइल बनने के बाद अपराधिक मामलों की जांच के लिए इसे विदेशी  जांच एजेंसियों से भी साझा किया जा… Read more »

किसान की आमदनी बढ़ाने की सार्थक पहल ?

Posted On & filed under राजनीति.

प्रमोद भार्गव राजग सरकार ने चार साल की लंबी प्रतीक्षा के बाद आखिरकार किसानों की सुध ले ली है। आने वाली खरीफ की 14 फसलों की लागत का कम से कम डेढ़ गुना दाम दिलाने की सरकार पहल कर रही है। भारतीय जनता पार्टी ने 2014 के चुनावी घोषणा पत्र में यह वादा किया भी… Read more »

 सुप्रीम कोर्ट ने दिया विदेशी चंदे की वैधता को जांचने का आदेश

Posted On & filed under राजनीति.

विदेशी राजनीतिक चंदे की वैधता की होगी जांच प्रमोद भार्गव राजनीतिक दलों को मिलने वाला विदेशी चंदा एक बार फिर कठघरे में है। सर्वोच्च न्यायालय ने इस चंदे की वैधता को जांचने के आदेश दिए हैं। दरअसल नरेंद्र मोदी सरकार ने विदेशी चंदा लेने के नियमों में जो बदलाव किए हैं, उन्हें जांच के दायरे… Read more »

लोकपाल का इंतजार

Posted On & filed under राजनीति.

प्रमोद भार्गव लोकपाल की नियुक्ति में हीला-हवाली के चलते सर्वोच्च न्यायालय ने केंद्र सरकार को समयबद्ध प्रगति की जानकारी 10 दिन के भीतर शपथ-पत्र के जरिए देने को कहा है। दरअसल साढ़े चार साल पहले लोकपाल कानून बन जाने के बावजूद लोकपाल की नियुक्ति नहीं हो पा रही है। नियुक्ति नहीं हो पाने की पृष्ठभूमि… Read more »