नशे का श्रंगार हमेशा से ही करता रहा है बालीवुड

अनिल अनूप

फ़िल्म इंडस्ट्री के बारे में सोचकर आपके दिमाग में इन दिनों कौन सी बातें कौंधती हैं? अगर सकारात्मक लहजे में सोचें तो मनोरंजन का जरिया और आर्ट एवं कल्चर का गढ़। वहीं नकारात्मक लहजे में सोचें तो नेपोटिज्म का अड्डा, बॉलीवुड माफिआयों की दुकान समेत अनगिनत नकारात्मक विचार। इन सबसे इतर आजकल फ़िल्म इंडस्ट्री इस वजह से भी चर्चा में है कि जिन कलाकारों को बड़े पर्दे पर हम युवाओं के रोल मॉडल और इंस्पिरेशन मानते हैं, वो असल जिंदगी में ऐसी-ऐसी आदतों के गुलाम होते हैं, जिसकी कल्पना भी सभ्य समाज के लिए कलंक की तरह है।

लेकिन बदलते समय में जहां समाज और लोगों की सोच में व्यापक बदलाव देखने को मिल रहे हैं, वहीं लोगों की जीवनशैली भी ऐसी हो रही है, जहां मजबूर और गंदी आदतों की गुलामी को बड़े-बड़े स्टार्स मान्यता देने लगे हैं। ये आदतें हैं शराब, ड्रग्स, गांजा, कोकीन, मरीजुआना, एलएसडी, हसीस समेत अन्य मादक पदार्थ। अब हर किसी की जुबां पर ये बातें तैरने लगी हैं कि बॉलीवुड ड्रग्स और नशे में चूर है और इससे टैलेटेंड लोगों का करियर जोखिम उठाने पर आमदा है।

सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में चल रही जांच ने बॉलीवुड के उस काले सच बेनकाब कर दिया है, जिसे सालों से पर्दे के पीछे रखने की कोशिश की गई। सुशांत के बहाने ही सही, बॉलीवुड में ड्रग्स का खेल एक बार फिर सामने आया है।

नशे में चूर बॉलीवुड में फिल्मी स्टार?

बॉलीवुड में नशे का खेल कितना बड़ा है? इसके बारे में बातें तो सब करते हैं, लेकिन खुलकर कोई इसके खिलाफ आवाज़ नहीं उठाता। सुशांत मौत मामले की जांच में जिस तरह ड्रग्स एंगल पर बड़े खुलासे हो रहे हैं ये पहली बार नहीं है। बॉलीवुड में फिल्मी स्टार के ड्रग्स इस्तेमाल करने की बात पहले भी सामने आ चुकी है।

ग्लैमर की ये दुनिया बाहर से चमकदार नजर आती हैं, लेकिन हम अगर सिक्के के दूसरे पहलू को देखें तो ‘ग्लैमर’ की दुनिया को कास्टिंग काउच, लव अफेयर्स, टूटते रिश्ते और ड्रग एडिक्शन जैसे चीज़ों ने घेरा हुआ है। ‘ड्रग एडिक्शन’ इस फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बन गया है।  कई बार देखने में आया है कि बॉलीवुड के ये A-लिस्ट वाले स्टार ‘ड्रग्स’की बुरी लत का शिकार हो जाते हैं। जिसके कारण उनके फिल्मी और निजी जिंदगी में बेहद बुरा प्रभाव पड़ा है.श। चलिए जानते हैं ऐसे ही कुछ A-लिस्टर स्टार्स के बारे में जो बॉलीवुड में अपने ड्रग एडिक्शन की वजह से कभी न कभी चर्चा में रहे।

संजय दत्त

संजय दत्त जब स्कूल में पढ़ते तभी से उन्हें ड्रग्स लेने की आदत पड़ गई थी. 1981 में उनकी मां नरगिस की मौत के बाद संजय दत्त ने इस नशे की लत में खुद को इस तरह भिगोया की उन्हें जेल तक की हवा खानी पड़ी। ड्रग्स रखने के केस में 1982 में उन्हें 5 महीनों की जेल हुई थी, उस वक्त उनके पिता ने उन्हें इन मुश्किलों से उबारा था।  जहां संजय दत्त का फिल्मी कॅरियर चमक रह था, वहीं संजय ड्रग्स के नशे में खो चुके थे। उनकी हालत उनकी खराब हो गई कि इससे छुटकारा पाने के लिए सुनील दत्त ने यूएस के रिहैब सेंटर में स्पेशल ट्रीटमेंट दिलवाया था.श। इसके लगभग तीन साल बाद 1985 में संजय ने फिल्म ‘जान की बाजी’ से बॉलीवुड में वापसी की।

रणबीर कपूर

रणबीर कपूर आज के नए जनरेशन के यूथ आइकॉन हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि रणबीर भी एक समय ड्रग्स लिया करते थे। एक इंटरव्यू में रणबीर ने इस बात को खुद कबूल किया है कि, उन्हें ‘वीड’ यानी की गांजा की आदत हो गयी थी। इतना ही नहीं इसका प्रयोग उन्होंने अपनी फिल्म रॉकस्टार के लिए भी किया था, जिससे उनके किरदार को एक रियल लुक मिला था। इस दौरान रणबीर ने यह कबूला था कि स्कूल के दिनों से ही उन्होंने ड्रग्स लेना शुरू किया था और जल्द ही ये उनकी आदत बन गई थी। लेकिन अब रणबीर अपनी इस बुरी लत से छुटकारा पा चुके हैं। भले ही रणबीर ने ड्रग्स छोड़ दिया हो, लेकिन वे अब भी चैन-स्मोकर हैं।

फरदीन खान

अपनी पहली फिल्म ‘जानशीन’ से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले फरदीन खान, फिरोज खान के बेटे हैं। इनकी फिल्मों ने भले ही इनके कॅरियर में चार चांद नहीं लगवाए हों, लेकिन इनकी निजी जिंदगी हमेशा चर्चा मे बनी रही। फरदीन को उनके मुंबई के घर जुहू में कोकीन रखने के लिए नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने गिरफ्तार किया गया था और वो करीब 5 दिनों तक हिरासत में थे. साल 2012 में उनके सर से ये दाग मिट गया। लेकिन फरदीन ड्रग्स के इतने आदि हो चुके थे जिसके चलते उन्हें डीटोक्सिफिकेशन भी करना पड़ा था। 

मनीषा कोइराला

मनीषा कोइराला का करियर कई बुरी आदतों के कारण खत्म हो गया। बॉलीवुड में सफल कॅरियर के बाद वो ड्रग्स, स्मोकिंग और शराब पीने की आदी को गई थीं। इस कारण उनका वजन भी बढ़ गया था। लेकिन, जब उन्हें कैंसर की बीमारी के बारे में पता चला था तो उन्होंने सारी बुरी आदतों को छोड़ दिया।

सुजैन खान

ये नाम सुनकर आप थोड़ा चौंक जरूर गए होंगे, लेकिन ये बात बिल्कुल सच है. एक वेबसाइट के अनुसार ॠतिक रोशन की एक्स वाइफ और संजय खान की बेटी को भी ड्रग्स लेने की आदत है. इतना ही नहीं कई अटकलें लगायी जाती हैं कि सुजैन खान की नशे की इस आदत के चलते उनका और ॠतिक रोशन का तलाक हुआ है।

बॉलीवुड में ड्रग्‍स का चलन न तो नया है और न ही सुशांत सिंह राजपूत आत्‍महत्‍या मामले के बाद ये पहली बार सामने आया है। इस मामले के सामने आने के बाद लेकिन इतना जरूर हुआ है कि ड्रग्‍स लेने वाले और इससे जुड़े बॉलीवुड सितारों की लिस्‍ट में कुछ नए नाम जुड़ गए हैं। आपको बता दें कि बॉलीवुड में कई चर्चित हस्तियों के ड्रग्‍स की लत होने की खबरें कई बार सामने आई हैं। इस लत की वजह से बॉलीवुड में कई नाम ऐसे हैं जिनका करियर ही हमेशा के लिए खत्‍म हो गया। आज हम आपको ऐसे ही कुछ लोगों के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

संजू बाबा या संजय दत्‍त बॉलीवुड में एंट्री लेने से पहले से ही ड्रग्‍स के शिकार हो चुके थे। 1981 में जब कैंसर की वजह से उनकी मां नरगिस की मौत हुई तो वो और इसके शिकार हो गए। 1982 में ड्रग्स रखने के आरोप में उन्हें 5 महीनों की जेल की सजा भी हुई थी। बॉलीवुड में आने के बाद जब उनका करियर का ग्राफ ऊपर चढ़ने लगा तो वो बुरी तरह से इसकी पकड़ में खुद को खपा चुके थे। उन्‍हें इस आदत से निकालने के लिए उनके पिता सुनील दत्‍त ने अमेरिका के रिहैब सेंटर में उनका इलाज करवाया। तीन साल बाद 1985 में संजय ने दोबारा फिल्म जान की बाजी से बॉलीवुड में एंट्री ली थी।

बॉलीवुड में यूथ आइकॉन के नाम से पहचाने जाने वाले रणबीर कपूर ने एक इंटरव्‍यू के दौरान इस बात का खुलासा किया था कि वो स्‍कूल लाइफ में ही ड्रग्‍स के शिकार हो चुे थे। उनके मुताबिक फिल्‍म रॉकस्‍टार के लिए खुद को तैयार करने के लिए उन्‍होंने गांजे का इस्‍तेमाल किया था। इसी दौरान वो इसके आदी भी हो गए थे।

फिरोज खान के बेटे फरदीन खान नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने घर में कोकीन रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था। हालांकि वर्ष 2012 में सुबूतों के अभाव में उन्‍हें कोर्ट ने बरी कर दिया था। कहा जाता है कि उन्‍हें ड्रग्स की बुरी लत थी जिसके चलते उन्हें डीटोक्सिफिकेशन भी करना पड़ा था।

योयो हनी सिंह का कुछ समय पहले तक म्‍यूजिक और बॉलीवुड इंडस्‍ट्री में बोलबाला था। लेकिन नशे की लत ने उनका करियर की खराब करके रख दिया है। म्‍यूजिक इंडस्‍ट्री में नाम और शोहरत कमाने के बाद वो भी ड्रग्‍स के चंगुल में फंसते चले गए। उन्हें एक साल तक रिहैब सेंटर में रहकर इलाज करवाना पड़ा था।

90 के दशक की मॉडल गीतांजलि रैंप पर सुष्मिता सेन जैसी प्रतिष्ठित मॉडल्स के साथ कैटवॉक करती नजर आती थी। लेकिन ड्रग्स की आदत ने उनका करियर और लाइफ बर्बाद कर दी। उनकी आर्थिक और मानसिक हालत इस कदर खराब थी कि अंतिम दिनों में वो दिल्ली की सड़कों पर भीख मांगते नजर आई थीं।

बॉलीवुड अभिनेता विजय राज भी ड्रग्स के मामले में गिरफ्तार हो चुके हैं। उन्हें 2005 में दुबई में ड्रग रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बाद में उन्‍हें जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

बॉलीवुड अभिनेत्री ममता कुलकर्णी और उनके पति विक्‍की गोस्‍वामी का नाम दो हजार करोड़ रुपए के ड्रग्स रैकेट केस में सामने आया था। जनवरी 2016 में वो और उनके पति ने ड्रग तस्‍करों के साथ केन्या के मोंबासा के एक होटल में मीटिंग की थी। हालांकि ममता इस मामले में लगे आरोपों को बेबुनियाद बताती रही हैं।

2017 में स्मिता पाटिल और राज बब्बर के बेटे प्रतीक ने ड्रग एडिक्ट होने की बात स्वीकार की थी। वह पांच साल तक इसकी गिरफ्त में रहे थे। प्रतीक का कहना था कि, फिल्मों का एक के बाद एक फ्लॉप होना और एक्ट्रेस एमी जैक्सन संग रोमांस के विफल होने जैसी बातों ने उन्हें नशे की ओर धकेल दिया था।

कभी बॉलीवुड में सफल अदाकारा रही मनीषा कोइराला का करियर भी ड्रग्‍स के चलते खत्‍म हो गया। कुछ समय पहले उन्‍होंने विदेश में अपने कैंसर का इलाज करवाया था।

हकीकत ये है कि फ़िल्म इंडस्ट्री लंबे समय से शराब और ड्रग्स समेत अन्य नशीले पदार्थों की चपेट में है. चाहे मीना कुमारी, गुरुदत्त, मधुबाला, धर्मेंद्र समेत पहले जमाने के स्टार हों या संजय दत्त, बॉबी देओल, प्रतीक बब्बर, रणबीर कपूर, फरदीन खान, पूजा भट्ट, मनीषा कोइराला, हनी सिंह, कपिल शर्मा समेत नई अन्य नए जमाने के स्टार्स, इन सभी लोगों के ड्रग, मरीजुआना और शराब की लत के बारे में दुनिया जानती है. हालांकि, इनमें से ज्यादातर ने अपनी आदत सुधारी और अब इनके बारे में कोई वैसी खबरें नहीं आती, जिससे उनके फैंस को बुरा लगे। यहीं नहीं, रवीना टंडन, गौरी खान, सुजेन खान, प्रीति जिंटा समेत अन्य सिलेब्रिटी भी नशीले पदार्थों के सेवन की वजह से चर्चा में रही हैं। मौजूदा दौर में ऐसे बेहद कम एक्टर या एक्ट्रेस दिखते हैं, जो स्मोकिंग या शराब की आदतों से दूर हों। हालांकि, ये हर तरह के समाज की हकीकत है, ये सिर्फ फ़िल्म समाज के लोगों की ही बात नहीं है। शराब और तरह-तरह के नशीले पदार्थों की जद में समाज के हर तबके के लोग आते हैं, लेकिन फ़िल्म इंडस्ट्री इस दाग से ज्यादा दागदार है और इससे कई बड़े स्टार्स की फजीहत भी हुई है।

दरअसल, शराब और गांजा, ड्रग्स समेत अन्य नशीले पदार्थों के बारे में एक आम धारणा ये है कि ये सुख और दुख, दोनों दौर के साथी होते हैं। फ़िल्म चल गई तो जश्न में इनका सेवन कर लिया और अगर फ़िल्म पिट गई तो फिर ग़म को भुलाने का जरिया। ये एक तरह से एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री ही नहीं, बल्कि हर क्षेत्र के लोगों की मानसिकता बनती जा रही है। अंतर यही है कि फ़िल्म इंडस्ट्री के लोग इससे ज्यादा प्रभावित हैं। कामका दबाव, काम न मिलने से होने वाला फ्रस्ट्रेशन, प्यार और दैहिक जरूरतों पूरी न होने का ग़म समेत कई ऐसी स्थितियां और भाव हैं, जिसकी वजह से लोग नशे की दुनिया में जाते हैं और फिर वह उन्हें इस तरह जकड़ती है कि लोग छटपटाकर रह जाते हैं और आखिर में अफसोस के सिवा और कुछ नहीं मिलता। प्रियंका चोपड़ा और कंगना रनौत की फ़िल्म फैशन में जिस तरह से फैशन इंडस्ट्री की सच्चाई दिखाई गई थी, वह जीता जागता उदाहरण हैं। बीते दिनों बॉबी देओल ने जिस तरह से बताया कि शराब की लत ने उनका फ़िल्मी करियर डुबो दिया था, वह एक ऐसी हकीकत है, जिससे फ़िल्म इंडस्ट्री के सैकड़ों-हजारों छोटे बड़े स्टार्स लंबे समय से जूझते आ रहे हैं और आए दिन इसका स्वरूप और विस्तृत होता जा रहा है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: