मुज्जफर हुसैन : हम तुम्हें यूं भुला ना पाएंगें

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

संजय द्विवेदी मुंबई की सुबह और शामें बस ऐसे ही गुजर रही थीं। एक अखबार की नौकरी,लोकल ट्रेन के घक्के,बड़ा पाव और ढेर सी चाय। जिंदगी में कुछ रोमांच नहीं था। इस शहर में बहुत कम लोग थे, जिन्हें अपना कह सकें। पैसे इतने कम कि मनोरंजन के बहुत उपलब्ध साधनों से दूर रहना जरूरत और… Read more »

महर्षि दयानन्द ! तुझे प्रणाम, कोटिश: नमन

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

राकेश कुमार आर्य   महर्षि दयानन्द सरस्वती जी महाराज की 194वीं जयन्ती  महर्षि दयानन्द के व्यक्तित्व को किसी एक आलेख में आबद्घ किया जाना सर्वथा असम्भव है। जो व्यक्ति सम्पूर्ण क्रान्ति का अग्रदूत बनकर अपने देश में आया और सम्पूर्ण मानवता के उद्घार व कल्याण का मार्ग अज्ञानान्धकार में भटकते विश्व समुदाय को देकर… Read more »

सरोजिनी को नापसंद था नारीवादी कहलाना

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

निर्भीकता, उत्कट स्वातंत्र्य प्रेम तथा नारियों को सबल-सक्षम-शिक्षित बनाने की प्रबलतम आकांक्षा- यही वह विशेषताएँ थीं जिन्होंने सरोजिनी नायडू के यशस्वी और संघर्षमय जीवन को संचालित किया। उनकी उपलब्धियां उनके अदम्य साहस और नारी मुक्ति के लिए उनके दुर्घर्ष संघर्ष की अमर गाथा का बयान करती हैं। वे द गोल्डन थ्रेशहोल्ड की प्रस्तावना में स्वयं… Read more »

संत रैदास: धर्मांतरण के आदि विरोधी – घर वापसी के सूत्रधार   

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

प्रवीण गुगनानी लगभग सवा छः सौ वर्ष पूर्व 1398 की माघ पूर्णिमा को काशी में जन्में संत रविदास यानि संत रैदास को निस्संदेह हम भारत में धर्मांतरण के विरोध में स्वर मुखर करनें वाली और स्वधर्म में घर वापसी करानें के प्रथम या प्रतिनिधि संत कह सकतें है. धर्मांतरण हिन्दुस्थान में सदियों से एक चिंतनीय विषय रहा… Read more »

आजाद हिन्द फौज के सेनानी आनंद मोहन सहाय

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

पुण्य तिथि 13 फरवरी पर विशेष कुमार कृष्णन आनंद मोहन सहाय एक ऐसे व्यक्तित्व हैं, जिन्होंने 25 वर्ष की उम्र में ही अपनी मातृभूमि को गुलामी की जंजीर से मुक्त कराने के लिये विदेश चल पड़े एवं जापान सहित अन्य दक्षिण-पुर्व एशियायी एवं निकटवर्ती यूरोपीय देशों में रह रहे भारतीयों को वतन की आजादी के… Read more »

 स्वामी विवेकानंद: भारतीय संस्कृति के वैश्विक उद्घोषक  

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

स्वामी विवेकानंद जी ने भारत को व भारतत्व को कितना आत्मसात कर लिया था यह कविवर रविन्द्रनाथ टैगोर के इस कथन से समझा जा सकता है जिसमें उन्होनें कहा था कि – “यदि आप भारत को समझना चाहते हैं तो स्वामी विवेकानंद को संपूर्णतः पढ़ लीजिये”. नोबेल से सम्मानित फ्रांसीसी लेखक रोमां रोलां ने स्वामी जी के… Read more »

नरेन्द्रनाथ से स्वामी विवेकानंद हो जाना

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

मनोज कुमार दुनियाभर की युवा शक्ति को दिशा देने वाले स्वामी विवेकानंद का सानिध्य अविभाजित मध्यप्रदेश को प्राप्त हुआ था. यह वह कालखंड था जब स्वामी विवेकानंद, स्वामी विवेकानंद ना होकर नरेन्द्रनाथ दत्त थे. इतिहास के पन्ने पर दर्ज कई तथ्य और स्मरण इस बात को पुख्ता करते हैं कि किशोरवय के नरेन्द्रनाथ दत्त से… Read more »

स्वामी विवेकानन्द : जिनका समग्र जीवन स्वयं एक प्रयोगशाला था

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

स्वामी विवेकानन्द जन्म जयन्ती-12 जनवरी 2018 पर विशेष -ललित गर्ग- काल के भाल पर कुंकुम उकेरने वाले सिद्धपुरुष का नाम है, स्वामी विवेकानन्द। नैतिक मूल्यों के विकास एवं युवा चेतना के जागरण हेतु कटिबद्ध, मानवीय मूल्यों के पुनरुत्थान के सजग प्रहरी, अध्यात्म दर्शन और संस्कृति को जीवंतता देने वाली संजीवनी बंूटी, भारतीय संस्कृति एवं भारतीयता… Read more »

ओमपुरी भारतीय सिनेमा के एक मंझे हुए कलाकार थे

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज, सिनेमा

ओमपुरी की प्रथम पुण्यतिथि 06 जनवरी 2018 पर विशेष महान कलाकार ओम पुरी का जन्म 18 अक्टूबर 1950 में हरियाणा के अम्बाला शहर में एक पंजाबी परिवार में हुआ। ओम पुरी के पिता भारतीय सेना में थे। अमरीश पुरी और मदन पुरी उनके चचेरे भाई थे। ओमपुरी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपने ननिहाल पंजाब के… Read more »

 महामानव संभाजी भिड़े की असलियत जानें

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

डा. राधेश्याम द्विवेदी जाने-माने लोकप्रिय नेता:- संभाजी भिड़े ‘गुरूजी’ महाराष्ट्र के जाने-माने लोकप्रिय नेता हैं। संत विनोवा भावे, महात्मा गांधी जय प्रकाशनारायण नरेन्द्रदेव लोहिया तथा अन्ना हजारे की तरह वे एक सर्वोदयी जननेता हैं। हिंदुत्व के लिये उनका योगदान अवर्णनीय है। वह मराठा सम्राट छत्रपति शिवाजी के कट्टर अनुयायी हैं और महाराष्ट्र की वर्तमान युवा… Read more »