असम रत्न – लोक गायक भूपेन हजारिका

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

– ओंकारेश्वर पांडेय डॉ. भूपेन हजारिका किसी परिचय के मोहताज नहीं है। स्वर साम्राज्ञी लता मंगेशकर ने गुवाहाटी के एक कार्यक्रम में कहा था – ‘हम असम को भूपेन हजारिका के नाम से जानते हैं।’ भारत के सुप्रसिद्ध लोक गायक भूपेन दा का व्यक्तित्व बहुआयामी था। भूपेन दा अद्भुत आवाज के धनी जन जन में… Read more »

गुरुनानक देव : महान धर्म प्रवर्तक

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

गुरुनानक देव जयन्ती- 4 नवम्बर 2017 के उपलक्ष्य में  -ललित गर्ग –   विश्व मंे अनेक धर्म-सम्प्रदाय प्रचलित हैं। सभी धर्मों ने मानव जीवन का जो अंतिम लक्ष्य स्वीकार किया है, वह है परम सत्ता या संपूर्ण चेतन सत्ता के साथ तादात्म्य स्थापित करना। यही वह सार्वभौम तत्व है, जो मानव समुदाय को ही नहीं,… Read more »

ऋषि भक्त प्रसिद्ध वैदिक विद्वान पं. चन्द्रमणि विद्यालंकार

Posted On by & filed under शख्सियत

मनमोहन कुमार आर्य देहरादून का यह सौभाग्य है कि यहां आर्यसमाज के अनेक मूर्धन्य विद्वानों ने निवास किया है। हमने यहां अथर्ववेद और सामवेदभाष्यकार पं. विश्वनाथ वेदालंकार जी को देखा है व उनसे मिले भी हैं। उनसे अनेक बार आर्यसमाज व वैदिक साहित्य पर चर्चायें भी की हैं। आर्यसमाज में उनके प्रवचनों को सुना तथा… Read more »

छत्तीसगढ़ के शिल्पकार डाक्टर रमनसिंह 

Posted On by & filed under शख्सियत

15 अक्टूबर जन्मदिवस विशेष मनोज कुमार आम आदमी के हितैषी, छत्तीसगढ़ राज्य को विकास का नया स्वरूप देने वाले डॉ. रमनसिंह की पहचान एक ऐसे शिल्पकार के रूप में हो चुकी है जिनके बिना छत्तीसगढ़ राज्य की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। यह सच है कि डॉ. रमनसिंह मुख्यमंत्री नहीं होते तो छत्तीसगढ़… Read more »

नानाजी देशमुख : एक विलक्षण व्यक्तित्व

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

ये 4 नवंबर, 1974 की बात है. बिहार में जेपी आंदोलन उफान पर था. जयप्रकाश नारायण पटना में हज़ारों लोगों का एक जुलूस लीड कर रहे थे. तत्कालीन सरकार के खिलाफ़ नारे लग रहे थे-सच कहना अगर बग़ावत है तो समझो हम भी बाग़ी हैं. पटना के बेली रोड में जब यह जुलूस रेवेन्यू बिल्डिंग… Read more »

कभी न बुझने वाली लौ हैं अमिताभ बच्चन…

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज, सिनेमा

अमिताभ बच्चन हिन्दी फिल्मों के अभिनेता हैं। हिन्दी सिनेमा में चार दशकों से ज्यादा का वक्त बिता चुके अमिताभ बच्चन को उनकी फिल्मों से ‘एंग्री यंग मैन’ की उपाधि प्राप्त है। वे हिन्दी सिनेमा के सबसे बड़े और सबसे प्रभावशाली अभिनेता माने जाते हैं। उन्हें लोग ‘सदी के महानायक’ के तौर पर भी जानते हैं… Read more »

राष्ट्र निर्माण और मानव शिल्पी दीनदयाल

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

देश की आजादी और नवनिर्माण में सर्वस्त्र न्योछावर करने वाले पुरोधाओं की कमी नहीं है, कोई ज्ञात है तो कोई अज्ञात है। जो स्मृत है उन्हें श्रद्धा के दो फूल नसीब है और विस्मृत को सजदा के दो बोल भी मुनासिब नहीं। शाष्वत सबकी भूमिका अपनी जगह बहुमूल्य है, बात है मानने की तो अनुयायी… Read more »

अंतिम जन के हितचिंतक पं. दीनदयाल उपाध्याय

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

मनोज कुमार नव-भारत के निर्माण की बात चल पड़ी है और इस दिशा में सकरात्मक प्रयास भी आरंभ हैै। यह पहल एक समय के बाद अपना आकार लेगी लेकिन इस महादेश में बड़ी संख्या में ऐसे लोग निवास करते हैं जिन तक विकास की रोशनी भी नहीं पहुंच पाती हैै। सौ साल पहले भी वे… Read more »

नरेन्द्र मोदी रूपी युगयात्रा की आवाज को सुनें

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

नरेन्द्र मोदी के 67वें जन्म दिवस, 17 सितम्बर 2017 के उपलक्ष में -ललित गर्ग – एक दीया लाखों दीयों को उजाला बांट सकता है यदि दीए से दीया जलाने का साहसिक प्रयत्न कोई शुरु करे। अंधेरों से संघर्ष करने की एक सार्थक मुहिम हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में शुरू हो चुकी है… Read more »

ऋषि दयानन्द ने अपने विद्या गुरू स्वामी विरजानन्द सरस्वती की शिक्षा एवं प्रेरणा से देश में धार्मिक एवं सामाजिक क्रान्ति की

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

आज स्वामी विरजानन्द सरस्वती जी की पुण्य तिथि पर मनमोहन कुमार आर्य आज ऋषि दयानन्द के विद्या गुरु प्रज्ञाचक्षु दण्डी स्वामी विरजानन्द सरस्वती जी की पुण्य तिथि है। 14 सितम्बर, सन् 1868 (सोमवार) को मथुरा में उनका देहान्त हुआ था। उस दिन हिन्दी तिथि आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी थी। विक्रमी संवत् 1925… Read more »