फाकाकशी और मस्ती के वे दिन

Posted On by & filed under शख्सियत

विजय कुमार, यह बात अटल जी के राजनीति में आने से पहले की है। उन दिनों लखनऊ से मासिक राष्ट्रधर्म, साप्ताहिक पांचजन्य, दैनिक स्वदेश और सांयकालीन तरुण भारत भी निकलते थे। अब पांचजन्य दिल्ली से, स्वदेश मध्यप्रदेश से तथा तरुण भारत महाराष्ट्र में कई स्थानों से निकलता है। यद्यपि इन सबमें और लोग भी थे;… Read more »

खुद देखिए, “आईएएस आकाश त्रिपाठी का काम बोल रहा है“

Posted On by & filed under शख्सियत

विवेक कुमार पाठक मप्र कॉडर के आईएएस ऑफीसर और सख्त छवि के प्रशासन की छवि बनाने वाले आकश त्रिपाठी एक बार फिर चर्चा में हैं। पश्चिम क्षेत्रीय विद्युत वितरण कंपनी लिमिटेड की कमान संभालकर उनका बेहतर काम राज्य शासन का ब्रांड बना है। उनके कार्यकाल में मप्र में मालवा क्षेत्र को रोशन करने वाली पश्चिमी… Read more »

मप्र की पहली विधानसभा के विधायक हैं 102 साल के नन्नाजू

Posted On by & filed under शख्सियत

विवेक पाठक 1952 में मध्यप्रदेश की पहली विधानसभा देखने वाले नन्नाजू अपनी राजनैतिक यात्रा में दर्जन भर मुख्यमंत्री देख चुके हैं। तब मध्यप्रदेश की राजधानी में विधायक विश्राम ग्रह नहीं था। पहली बार विधायक बने लक्ष्मीनारायण गुप्ता बांस के तंबुओं में अपने साथी विधायकों के साथ रुके थे। अपने उन राजनैतिक साथियों के बीच अब… Read more »

हिन्दुस्तानी सिनेमा की चुलबुली चांदनी आज जन्मदिन पर होतीं तो एक्ट्रेस जान्हवी की मॉम कहलातीं

Posted On by & filed under शख्सियत

विवेक कुमार पाठक ये शब्द केन्द्र सरकार के स्किल इंडिया अभियान की आत्मा है मगर अचानक अपने करोड़ों प्रशंसकों को रोता बिलखता छोड़कर अनंत निद्रा में सो जाने वालीं लोकप्रिय अदाकारा और 2012 में इंग्लिश विंग्लिश फिल्म की नायिका पद्मश्री श्रीदेवी ने रुपहले पर्दे पर साकार कर दिया था। आज उन्हीं श्रीदेवी का जन्म दिन… Read more »

सनी लियोनी की अनकही दास्ता पर बन रही फिल्म की कुछ बात

Posted On by & filed under शख्सियत

विवेक कुमार पाठक लेखक स्वतंत्र पत्रकार हैं हिन्दुस्तान की माटी को प्रणाम। इस देश की हवा को सलाम। इस देश के जर्रे जर्रे को सलाम। मेरा देश मेरी मिट्टी और पूरी दुनिया की भिन्नताओं को समेटे हिन्दुस्तान इस अच्छाई के लिए भी दुनिया भर के लिए नजीर है। हम पूंजीवादी अमेरिका जैसे विकसित राष्ट्र नहीं… Read more »

“आजाद हिन्द फौज और आर्यसमाज”

Posted On by & filed under शख्सियत

  –मनमोहन कुमार आर्य,  देश की आजादी में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस की महत्वपूर्ण व प्रमुख भूमिका है। वह देश की आजादी के नायकों में एक प्रमुख नायक हैं। देश में उनको उनके त्याग और कार्यों के अनुरूप स्थान नहीं मिला। आज भी वास्तविक लोकप्रियता में वह आजादी के अन्य नायकों से बहुत आगे हैं। 15… Read more »

ग्रामीण पत्रकारिता के अग्रदूत पंडित गोपालकृष्ण पौराणिक

Posted On by & filed under शख्सियत

विवेक कुमार पाठक  स्वतंत्र पत्रकार पोहरी से निकलकर भारत और विश्व में विचार के लिए जाने गए सर्वतोभद्र क्रांति के पुरोधा पंडित  गोपाल कृष्ण पौराणिक मध्यप्रदेश  की पर्यटन नगरी शिवपुरी जिले के पोहरी कस्बे में जन्म लेने वाले विराट व्यक्तित्व थे। 100 साल के जीवन में एक दिशा धारा में भी देश दुनिया के लिए… Read more »

संदर्भः प्रेमचंद जयंती 31 जुलाई पर विशेष –

Posted On by & filed under शख्सियत

मुंशी प्रेमचंद की गाय प्रमोद भार्गव कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की एक कहानी हैं ‘मुक्तिधन‘ इस कहानी का शीर्षक  गाय भी हो सकता था, क्योंकि कहानी गाय के इर्द-गिर्द घूमती है। आज कथित गो-रक्षा को लेकर बहुत हिंसक उत्पात देखने में आ रहे हैं। रक्षा को लेकर गाहे-बगाहे भीड़-तंत्र खड़ा हो रहा है, जो हत्या… Read more »

भारत राष्ट्र के निर्माताओं में से एक लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक

Posted On by & filed under शख्सियत

  -अशोक “प्रवृद्ध” स्वराज मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है के उद्घोषक लोकमान्य बालगंगाधर तिलक (3 जुलाई 1856- 1 अगस्त 1920)  एक भारतीय राष्ट्रवादी, शिक्षक, समाज सुधारक, वकील और एक स्वतन्त्रता सेनानी के रूप में लोकख्यात हैं। ये आधुनिक कालेज शिक्षा पाने वाली पहली भारतीय पीढ़ी में से एक थे। इन्होंने कुछ समय तक स्कूल और… Read more »