नरेन्द्र मोदी रूपी युगयात्रा की आवाज को सुनें

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

नरेन्द्र मोदी के 67वें जन्म दिवस, 17 सितम्बर 2017 के उपलक्ष में -ललित गर्ग – एक दीया लाखों दीयों को उजाला बांट सकता है यदि दीए से दीया जलाने का साहसिक प्रयत्न कोई शुरु करे। अंधेरों से संघर्ष करने की एक सार्थक मुहिम हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में शुरू हो चुकी है… Read more »

ऋषि दयानन्द ने अपने विद्या गुरू स्वामी विरजानन्द सरस्वती की शिक्षा एवं प्रेरणा से देश में धार्मिक एवं सामाजिक क्रान्ति की

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

आज स्वामी विरजानन्द सरस्वती जी की पुण्य तिथि पर मनमोहन कुमार आर्य आज ऋषि दयानन्द के विद्या गुरु प्रज्ञाचक्षु दण्डी स्वामी विरजानन्द सरस्वती जी की पुण्य तिथि है। 14 सितम्बर, सन् 1868 (सोमवार) को मथुरा में उनका देहान्त हुआ था। उस दिन हिन्दी तिथि आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी थी। विक्रमी संवत् 1925… Read more »

हिंदी साहित्य में नारी चेतना महादेवी वर्मा 

Posted On by & filed under लेख, शख्सियत

11 सितम्बर पुण्य तिथि पर विशेषः- मृत्युंजय दीक्षित हिंदी साहितय जगत की महान लेखिका महादेवी वर्मा का साहित्य जगत में उसी प्रकार से नाम है जैसे कि मुंशी प्रेमचंद व अन्य साहित्यकारों का। महादेवी वर्मा ने केवल साहित्य ही नहीं अपितु काव्य समालोचना संस्मरण संपादन तथा निबंध लेखन के क्षेत्र मं प्रचुरकार्य कया है अपित… Read more »

एक संत का अहिंसक आंदोलन

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

जन्मदिन 11 सितम्बर पर विशेष कुमार कृष्णन महात्मा गांधी के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी एवं महान स्वतंत्रता सेनानी विनोबा भावे ने देश में अपने भूदान आंदोलन की शुरुआत ऐसे समय की जब देश में जमीन को लेकर रक्तपात होने की आशंका उत्पन्न हो गई थी। तेलांगना के पोचमपल्ली में आज से 66  साल पूर्व हुए पहले भूदान… Read more »

भाजपा की विजय यात्रा का केंद्र बनते अमित शाह

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

डॉ. मयंक चतुर्वेदी सत्‍ता और संगठन में एक राजनीतिक पार्टी का अध्‍यक्ष क्‍या मायने रखता है, यह आज किसी को बताने की आवश्‍यकता नहीं है। संगठन मजबूत होगा तो स्‍वत: ही सत्‍ता नतमस्‍तक हो जाती है। इन दिनों यह बात भारतीय जनता पार्टी पर पूरी तरह खरी उतर रही है। राष्‍ट्रीयता के पूर्ण समर्पण के विचार को… Read more »

मैथिलीशरण गुप्त सच्चे अर्थों में राष्ट्रीय कवि थे

Posted On by & filed under विविधा, शख्सियत, समाज

मैथिलीशरण गुप्त जयन्ती, 3 अगस्त 2017 के उपलक्ष्य में   ललित गर्ग ”पर्वतों की ढलान पर हल्का हरा और गहरा हरा रंग एक-दूसरे से मिले बिना फैले पड़े हैं….।“ कैसा सही वर्णन किया है किसी साहित्यकार ने। लगता है कि हमारे मन की बात को किसी ने शब्द दे दिये। ठीक इसी प्रकार अगर हम… Read more »

महान क्रांतिकारी : ऊधम सिंह

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

31 जुलाई बलिदान दिवस पर विशेषः- मृत्युंजय दीक्षित जलियांवाला बाग हत्याकांड का प्रतिशोध लेने वाले क्रांतिकारी ऊधम सिंह का जन्म 29 दिसम्बर 1869 को सरदारटहल सिंह के घर पर हुआ था। ऊधम सिंह के माता -पिता का देहांत बहुत ही कम अवस्था मंे हो गया था। जिसके कारण परिवार के अन्य लोगो ने उन पूरा… Read more »

जीवन की अंतिम सांस तक आजाद रहने वाले क्रांतिकारी:-चंद्रशेखर आजाद

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

23 जुलाई पर विशेष:- मृत्युंजय दीक्षित क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के अप्रतिम व ऐतिहासिक योद्धा थे। उनका जन्म 23 जुलाई  1906 को भाबरा गांव में हुआ था। उनके पूर्वज उन्नाव जिले के वासी थे। आजाद के पिता का नाम सीताराम तिवारी तथा माता का नाम जगरानी देवी था। उनका प्रारम्भिक जीवन मप्र… Read more »

देश के करोडों युवाओं के रोल मॉडल हैं मिसाइल मैन डॉ. कलाम

Posted On by & filed under शख्सियत, समाज

(भारत रत्न डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम जी की द्वितीय पुण्यतिथि 27 जुलाई 2017 पर विशेष आलेख) भारत माँ के सपूत, मिसाइल मैन, राष्ट्र पुरुष, राष्ट्र मार्गदर्शक, महान वैज्ञानिक, महान दार्शनिक, सच्चे देशभक्त ना जाने कितनी उपाधियों से पुकार जाता था भारत रत्न डॉ. ए पी जे अब्दुल कलाम जी को वो सही मायने में… Read more »

रामनाथ कोविन्द: दसों दिशाएं कर रही हैं मंगलगान

Posted On by & filed under राजनीति, शख्सियत

राकेश कुमार आर्य  श्री रामनाथ कोविन्द अब जबकि 66 प्रतिशत मत लेकर और अपनी प्रतिद्वंद्वी श्रीमती मीरा कुमार को परास्त कर भारत के राष्ट्रपति घोषित किये जा चुके हैं, तब उनके राष्ट्रपति बनने के अर्थ, संदर्भ और परिणामों पर विचार करना उचित होगा। श्री कोविन्द के राष्ट्रपति बनने का अर्थ है कि इस समय… Read more »