विधि-कानून

सबका साथ व विश्वास का सूत्र “समान नागरिक संहिता”

देश के संविधान की मूल आत्मा व सर्वोच्च न्यायालय के आग्रहों का सम्मान करते हुए शासन को "समान नागरिक संहिता"...

अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता बनाम न्यायपालिका की अवमानना

 डॉ अभिषेक अत्रे आलोचना और विद्रूपता के बीच एक बहुत पतली रेखा है। स्वतंत्रता का एक मूल सिद्धांत यह है...

धर्मनिरपेक्ष शब्द को हटाने की मांग को लेकर सर्वोच्च न्यायालय की शरण

-अशोक “प्रवृद्ध” भारत विभाजन के पश्चात आज तक के काल में केंद्र की सता में सतासीन सरकारों के आचरण के...

पुलिस अकादमी के आईपीएस अधिकारी मनुमुक्त मानव की संदिग्ध मृत्यु का खुलासा क्यों नहीं हुआ?

-- डॉo सत्यवान सौरभ,  28 अगस्त 2014 को भारतीय पुलिस सेवा के युवा और प्रतिभाशाली आईपीएस अधिकारी मनुमुक्त मानव  की 31साल नौ...

केंद्र सरकार का अगला क़दम क्या जनसंख्या नियंत्रण क़ानून होगा?

 मोदी सरकार ने वर्षों से अटके मुद्दों यथा- धारा 370, तीन तलाक़ और राम मंदिर को चुटकियां बजाते ही मानों...

महिलाओं के लिए विवाह की आयु बढ़ाना सही रहेगा या नहीं।

  भारत में जिस समय महिलाओं को उनके भविष्य और शिक्षा की ओर ध्यान देना चाहिये, उस समय उन्हें विवाह...

सुशांत, शिवसेना, सुप्रीम कोर्ट, सीबीआई और सरकार पर संकट !

सुप्रीम कोर्ट ने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच भले ही सीबीआई को सौंप दी हो...

29 queries in 0.419