दूसरों को हत्या की गुत्थी सुलझानेवाले ‘व्योमकेश’ सुशांत सिंह राजपूत की विवादास्पद मौत !

 डॉ. सदानंद पॉल

अपना ‘वॉलीवुड’ को क्या हो गया है ? इरफान, ऋषि कपूर से लेकर अब सुशांत सिंह राजपूत के निधन की खबर ! कई मीडिया संगठनों के अनुसार, उन्होंने अपने मुम्बई घर में फाँसी लगा लिये ! वे 34 वर्ष 5 माह के थे ! जासूस ‘व्योमकेश’ बन दूसरे की हत्या के रहस्यों को सुलझाते-सुलझाते खुद भी अनसुलझे मौत को गले लगा लिए ! उनकी मौत की खबर नौकरों ने पुलिस को दी ! मीडिया खबरों के अनुसार, 9 जून 2020 को उनकी मैनेजर सुश्री दिशा ने अपनी इमारत से कूद कर जान दे दी थी, जिनपर सुशांत सिंह राजपूत ने ट्वीट कर दुःख व्यक्त किया था और 14 जून 2020 को खुद सुशांत सिंह राजपूत ने खुदकुशी कर लिए ! इसलिए फ्रस्ट्रेशन की बात करनी भी बेमानी होगी ! पुलिस मृत्यु के कारणों पर जाना चाहेगी, क्योंकि वे सुलझे हुए भारतीय टीवी और फ़िल्म अभिनेता थे । सुशांत सिंह राजपूत का जन्म बिहार के पूर्णिया जिले में 21 जनवरी 1986 को हुआ था, जो कि विकिपीडिया में सुस्पष्ट लिखा है।

बीते वर्ष 2019 में वे खगड़िया (बिहार) ननिहाल आये थे, जो कि बिहार में ही है । उन्हें सबसे पहले बालाजी टेलीफिल्म’स ने काम दिए ! उसके बाद उन्होंने अपना करियर ‘किस देश में है मेरा दिल’ नामक सीरियल से श्रीगणेश किये, किन्तु जीटीवी का शो ‘पवित्र रिश्ता’ सुशांत के करियर के लिए महत्वपूर्ण पहचान बनी।

ध्यातव्य है, सुशांत सिंह राजपूत का जन्म बिहार के पूर्णिया जिले के धमदाहा के बालूटोला में हुआ था, हालाँकि उनका जन्मभूमि कनेक्शन बिहार के सुदूर देहात ‘महिदा’ व बनमनखी क्षेत्र से है। उनके पिता सरकारी अधिकारी रहे हैं और ट्रांसफर-पोस्टिंग के कारण उनका परिवार भी घूमते रहे और अंतत: वर्ष 2000 में दिल्ली में बस गए ! सुशांत सिंह राजपूत की 4 बहनें भी हैं, जिनमें से मीतू सिंह राज्य स्तर की क्रिकेट खिलाड़ी भी हैं।

सुशांत सिंह राजपूत की शुरूआती पढ़ाई पूर्णिया बिहार और फिर सेंट कैरेंस हाईस्कूल पटना से हुई है और इसके आगे की पढ़ाई दिल्ली के हंसराज मॉडल स्कूल से हुई । इसके बाद दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से उन्होंने ‘मैकेनिकल इंजीनियरिंग’ की पढ़ाई पूरी की। उनके कई मॉडल और अभिनेत्रियों से अफ़ेयर भी थे।

पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के जीवन पर बनी फिल्म ‘एमएस धौनी’ में वे धौनी बने हैं, तो फ़िल्म ‘व्योमकेश बख़्शी’ में व्योमकेश ! चेतन भगत के उपन्यास पर आधारित फिल्म ‘काय पो छे’ में उनकी भूमिका अविस्मरणीय है । ‘पीके’, ‘केदारनाथ’, ‘छिछोरे’, ‘शुद्ध देशी रोमांस’ उनकी अन्य फिल्में हैं।

उन्हें अविस्मरणीय सादर श्रद्धांजलि….

Leave a Reply

%d bloggers like this: