पृथ्वी दिवस

धरती है माँ हमारी,जो करती सबका ध्यान |
उससे से बडा कोई नहीं,करे उसका सम्मान ||

धरती माँ करती रहती,सबका है उपकार |
इसको बचाने के लिये हम भी करे उपचार ||

धरती माँ भले एक है,उसके नाम है अनेक |
भू,धरा,धरणी वसुधा पृथ्वी उनमे से एक ||

धरती माँ सबको पालती,इसके बड़े प्रमाण |
वह सब कुछ दे रही,देवे उसी में से हम दान ||

मत फैलाओ प्रदुषण,माँ हो जायेगी नाराज |
वर्ना कोरोना वायरस,करेगा हम पर राज ||

धरती माँ का चुका नहीं सकते हम ऋण ||
चाहे सौ जन्म लो हो सकते नहीं उऋण ||

आर के रस्तोगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: