More
    Homeसाहित्‍यव्यंग्यपति, पत्नी और वो का चक्कर

    पति, पत्नी और वो का चक्कर

    नवेन्दु उन्मेष

    पति, पत्नी और वो का चक्कर हमेशा बुरा होता है और अब उसमें सीसीटीवी
    कैमरा भी शामिल हो गया है। इसके बाद वीडियो वायरल होने से इज्जत पर पलीता
    लगता है सो अलग। यह बात मुझे कल पत्नी समझा रही थी। कह रही थी तुम जो
    मुझसे लड़ते हो उसे मैं घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद करके वीडियो
    वायरल कर दूंगी। महिला सशक्तीकरण के इस दौर में महिलाएं पूरी तरह से
    सशक्त हो चुकी हैं। हम महिलाएं सिर्फ पुरूषों की दासी बनकर नहीं रह सकती।
    तुम्हें भी हमारी बातों को मानना पड़ेगा। यह मेरी अंतिम चेतावनी है।
    मैंने उससे कहा आज तुम्हें क्या हो गया है कि मुझे उपदेश दे रही हो और
    पति, पत्नी और वो की परिभाषा समझा रही हो। इस पर उसने अपना मोबाइल खोल कर
    दिखाया और कहा जरा इस वीडियो को देखो इसमें मध्य प्रदेश का एक पुलिस
    अधिकारी वो के चक्कर में अपनी पत्नी को पीटते हुए नजर आ रहा है। इस कारण
    वहां की सरकार ने उसका तबादला दूसरे विभाग में कर दिया है। आगे पत्नी ने
    मुझे कहा तुम्हें याद होगा कि झारखंड में भी एक आईजी पति, पत्नी और वो के
    चक्कर में नौकरी गंवा चुके हैं। उनका भी वीडियो वायरल हो गया था। वे भी
    एक महिला के साथ रंगरैलियां मनाते हुए पकड़े गये थे। इसके बाद उनकी इज्जत
    पर पलीता लगा सो अलग।
    मैंने पत्नी से कहा तो क्या तुम मुझे भी उन्हीं पुलिस अधिकारियों की तरह
    समझती हो। वह बोली मैं तुम्हें ऐसा नहीं समझ रहा हॅूं लेकिन तुम्हें बता
    रहा हूं कि दुनियां बदल चुकी है। वो का चक्कर बराबर बुरा होता है। तुम
    दिनभर कहा जाते हो और कहा नहीं जाते हो यह सब मुझे बताया करो। तुम कभी वो
    के चक्कर में नहीं पड़ना नहीं तो तुम्हारी भी इज्जत दाव पर लग सकती है।
    समझाते हुए पत्नी ने यह भी कहा तुम मर्दो की आदत होती है कि जहां वो देखा
    वहां लाइन लगा दी। पटना के लवगुरु भी इसी चक्कर में सरेआम पत्नी से पिटाई
    खा चुके हैं। आज लवगुरु न इधर के रहे और न उधर के। उन्होंने पत्नी तो खोई
    ही, बुढ़ापे में प्रेमिका को भी खो दिया। प्रेमिका को अपनी कक्षा में
    बैठाने के कारण वे नौकरी से सस्पेंड हुए सो अलग।
    पत्नी बोले जा रही थी और मैं गौर से उनकी बातों को सुने जा रहा था। उसने
    कहा एक तुलसीदास थे जो पत्नी से मिलने के लिए आधी रात को सांप को रस्सी
    समझ कर ससुराल में घुस गये थे और बाद में कवि बनकर पत्नी की महिमा को
    लोगों को बताया। लेकिन आज का पति वो के चक्कर में पड़कर नौकरी भी बचा नहीं
    पा रहा है। पत्नी ने आगे कहा तुम्हें याद होगा लखनउ में एक पुलिस अधिकारी
    थे जिसने श्रीकृष्ण प्रेम में खुद को राधा घोषित कर दिया था और मांग में
    सिंदूर भरकर चला करते थे। उन पर पुलिस वालों को प्रशिक्षण देने का
    दायित्व था। उनको भी वो चक्कर में जबरन रिटायर करा दिया गया था।
    आगे पत्नी ने मुझे कहा संत कबीर भी कह गये हैं ’ -चार नयन समझाउं पिया
    जी, पर घर प्रीत न रखना जी। दसो शीश रावण के कट गये पर नारी के संगा जी।
    ‘ इसका मतलब हुआ कि रावण के दसो शीश भी वो के चक्कर में कट गये थे। मैं
    पत्नी की बातों को सुने जा रहा था और सोच रहा था वह ठीक ही तो कह रही है।
    प्रधानमंत्री मोदी ने भले ही पत्नी को छोड़ दी लेकिन वो के चक्कर में नहीं
    पड़े। इसीलिए लगातार तरक्की करते गये। मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री तक हो
    गये और अब मन की बात रेडियो पर करते हैं।
    मैं आगे सोच रहा था कि कबूतरबाजी में एक सांसद भी फंसे थे। वे वो को
    पत्नी बताकर विदेश ले जाया करते थे। वो के चक्कर में कर्नाटक के
    मुख्यमंत्री एनटी रामाराव का घर भी टूटा था। वो के चक्कर में पटना में एक
    समय बाबी हत्याकांड भी हुआ था जिसमें मंत्री महोदय वो के कमरे के अंदर
    जाया करते थे तो बेटा बाप के बाहर निकलने का इंतजार किया करता था।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    * Copy This Password *

    * Type Or Paste Password Here *

    11,682 Spam Comments Blocked so far by Spam Free Wordpress

    Captcha verification failed!
    CAPTCHA user score failed. Please contact us!

    Must Read