इफ्तार पार्टी तो बहाना है,हमे तो महागठबंधन बुलाना है

इफ्तार पार्टी करना तो केवल एक बहाना है
इस बहाने तो महागठबंधन को बुलाना है

बुलाया है उन नेताओ को जो रोजा नहीं रखते
रोजा बिना रखे टोपी पहन कर मुसलमान बनते

अगर ये सर्व धर्म समान है और धर्मो को क्यों नहीं बुलाते ?
भारत में जैन,सिख,बोध धर्म भी है उनको क्यों नहीं बुलाते ?

सन 14 के बाद क्यों याद आई इफ्तार पार्टी बुलाना ?
चूकी महागठबंधन बुलाना था और मोदी को है हटाना

केवल वोट बैंक के लिये हो रहा है ये सारा तमाशा
सारे नेता हो रहे है इकठ्ठे,चूकी विपक्ष है अब हताशा 

ये भी अजीब तमाशा है,बिना रोजे के रोजा खोल रहे
रोजा खोलने के समय तक ही ये टोपी को पहन रहे

अंदर कुछ है बाहर कुछ है,केवल वोटर को फुसलाना है
इफ्तार पार्टी देना तो केवल महागठबंधन को बुलाना है

Leave a Reply

%d bloggers like this: