माँ की ममता का कोई मोल नहीं |

माँ की ममता का कोई मोल नहीं |
उसके प्यार की कोई तोल नहीं ||

माँ की बिन है ये जिन्दगी कोरी |
उसकी है सबसे मीठी सुंदर लोरी ||

माँ के बिन कोई जन्म नहीं ले सकता |
उसके ऋण को कभी नहीं चुका सकता ||

माँ का स्थान कोई नही ले सकता |
उसका पूरक कोई नहीं हो सकता ||

माँ में केवल माँ की ही ममता है |
इसकी और किसी में न क्षमता है ||

माँ मरने के बाद भी याद आती है |
कष्ट होता है उसकी याद आती है ||

माँ पुकारने में मुहं सबका खुलता है |
बाप पुकारने में मुहं सबका बंद होता है ||

माँ सबसे पहला स्थाई रिश्ता है |
जो जन्म और मृत्यु तक रहता है ||

आर के रस्तोगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: