मोदी की आगरा रैली भाषण में शुरू से अंत तक गरीब और मध्यम वर्ग रहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगरा परिवर्तन रैली ने बसपा प्रमुख मायावती की आगरा रैली में जुटी भीड़ के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंच पर आये उससे घंटों पहले ही आगरा का कोठी मीना बाजार मैदान खचाखच भर चुका था। और लोगों का आने का सिलसिला आगरा की सड़कों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन तक रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली के लिए लोगों का उत्साह उनके चेहरे से दिख रहा था। लोग कई किलोमीटर से पैदल चलकर मोदी की झलक पाने के लिए पहुंचे और हजारों लोग तो आगरा शहर में जाम के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सभा स्थल तक ही नहीं पहुँच पाए।

modi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगरा परिवर्तन रैली ने बसपा प्रमुख मायावती की आगरा रैली में जुटी भीड़ के रिकॉर्ड को तोड़ दिया। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंच पर आये उससे घंटों पहले ही आगरा का कोठी मीना बाजार मैदान खचाखच भर चुका था। और लोगों का आने का सिलसिला आगरा की सड़कों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन तक रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली के लिए लोगों का उत्साह उनके चेहरे से दिख रहा था। लोग कई किलोमीटर से पैदल चलकर मोदी की झलक पाने के लिए पहुंचे और हजारों लोग तो आगरा शहर में जाम के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सभा स्थल तक ही नहीं पहुँच पाए। परिवर्तन रैली में महिलाओं की तादात भी हजारों में थी। भाजपा को खासकर शहरी क्षेत्र की पार्टी माना जाता है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन रैली में आगरा के गाँव-गाँव से लोग पहुंचे। उनमें अधिकतर गरीब, किसान और मध्यम वर्ग से थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगरा परिवर्तन रैली में आयी हुई जनता पैसे देकर बुलाई हुई जनता नहीं थी बल्कि वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गरीबों, किसानों और मध्यम वर्ग के लिए किये जा कामों से प्रभावित होकर आई थी। और केवल नरेंद्र मोदी को सुनने आई थी। सभा को संबोधित करने से पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबों के लिए जिनके पास अपना घर नहीं है, प्रधान मंत्री आवास योजना-ग्रामीण का शुभारंभ किया। यह योजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। इस योजना के अन्तर्गत सभी ग्रामीण परिवारों को जिनके पास खुद का घर नहीं है, उनको आजादी की 75 वीं वर्षगाँठ वर्ष 2022 तक पर्यावरणीय रूप से सुरक्षित व पक्के घर उपलब्ध कराने का प्रावधान होगा। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को प्रति इकाई लगभग 1.50-1.60 लाख रुपये उपलब्ध कराये जायेंगेे। लाभार्थी की इच्छा पर रुपये  70,000 की राशि के ऋण का भी प्रावधान है। और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा जिले के लाभान्वितों को प्रधान मंत्री आवास योजना-ग्रामीण के अंतर्गत स्वीकृति पत्र भी प्रदान किये। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा वर्ष 2019 तक एक करोड़ घर बंनाने का लक्ष्य है। जिन लोगों के पास अपना खुद का घर नहीं है तथा एक या दो कमरे के कच्ची छत कच्ची दीवार के मकान में रहने वाले गरीब परिवारों को इस कार्यक्रम में शामिल किया गया है। प्रधानमंत्री ने साथ ही साथ मथुरा से पलवल चैथी रेल लाइन और मथुरा जंक्शन से भूतेश्वर यार्ड ढांचे में परिवर्तन व रेल फ्लाईओवर का भी शिलान्यास किया।

#आगरा_की_परिवर्तन_रैली में 500 और 1000 के नोटों की नोटबंदी के कारण विपक्ष के निशाने पर आये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमकर अपने विरोधियों और कालाधन रखने वाले लोगों पर निशाना साधा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा परिवर्तन रैली में गरीबों और आम आदमी की तारीफ करते हुए कहा कि नोटबंदी से देश के गरीब, नौकरीपेशा और मध्यम वर्ग ने सबसे ज्यादा कष्ट उठाया है, इसके बाद भी उफ तक नहीं की। प्रधानमंत्री ने जनमानस को विश्वास दिलाया कि गरीब, दलितों, किसानों, मध्यम वर्ग और आदिवासियों ने जो कष्ट उठाया, वह बेकार नहीं जाएगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि नोटबंदी की परेशानियों में तपकर देश सोना बनकर निकलेगा। प्रधानमंत्री ने एक बार फिर जनता से 50 दिन का समय माँगा। और गरीब आम जनता को विश्वास दिलाया कि जनता की मुश्किल देखते हुए सरकार लचीलापन भी अपनाएगी। लेकिन प्रधानमंत्री ने काला धन रखने वालों के प्रति अपना सख्त रुख रखा।

प्रधानमंत्री ने गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारों के बच्चों के दाखिले के लिए स्कूलों द्वारा ली जाने वाली डोनेशन को लूट बताते हुए जनता को विश्वास दिलाया कि सरकार इस लूट को खत्म करने कि दिशा में जल्द ही ठोस कदम उठाएगी। और इस व्यवस्था को खत्म किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने विपक्षियों और काला कारोबारियों को निशाने पर लेते हुए कहा कि कुछ लोग 70 साल से देश की पूरी अर्थव्यवस्था को लूटते रहे। जनता का पैसा लेकर अपना कारोबार चलाया। वास्तव में कहा जाए तो प्रधानमंत्री मोदी ने देश में कला धन रखने वालों के करोड़ों-अरबों रुपयों को कागज बना दिया। जो कि देश कि अर्थव्यवस्था के लिए सराहनीय कदम है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परिवर्तन रैली में बसपा प्रमुख मायावती का नाम न लेते हुए अप्रत्यक्ष रूप से प्रहार करते हुए कहा कि कुछ लोगों का सब कुछ लुटा। पीएम ने माया पर निशाना साधते हुए कहा कि वहां कहा जाता था इतने करोड़ में एमएलए बनोगे। ऐसे लोगों का सब लुट गया। नोट वापस हो गए। यह व्यवस्था अब बंद हो जाएगी। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा से नोटबंदी का विरोध कर रहीं ममता बनर्जी पर भी अप्रत्यक्ष रूप से से निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी का वो लोग विरोध कर रहे हैं, जिन्होंने जनता के पैसे को चिटफंड (शारदा चिटफण्ड) में लगवा दिया। जिससे गरीब लोगों को आत्महत्याएं तक करनी पड़ी। प्रधानमंत्री ने ममता के हरे जख्मों पर फिर से नमक छिड़क दिया। क्योंकि ममता सरकार और तृणमूल कांग्रेस के लोगों को शारदा चिटफण्ड को लेकर बहुत फजीयतें हुयी हैं। यह मामला पश्चिम बंगाल की चिटफंड कंपनी शारदा ग्रुप से जुड़ा हुआ है। जिसने आम लोगों के ठगने के लिए कई लुभावन ऑफर दिए। और लुभावन ऑफर के सपने लोगों को दिखाकर 10 लाख लोगों से पैसे लिये। जब लोगों को रकम लौटाने की बारी आई तो शारदा चिटफंड कंपनी ने 20,000 करोड़ रुपये लेकर दफ्तरों पर ताला लगा दिया। और इस घोटाले में तृणमूल कांग्रेस के कई सांसदों को जेल जाना पड़ा था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली में #नोटबंदी के जरिए नगर निकायों के फायदे का जिक्र करते हुए कहा कि आज जो पैसे वाले टैक्स नहीं भर रहे थे, वह लाइन में लगे हुए हैं। पीएम ने बैंकों में आये हुए पैसे का भी जिक्र करते हुए कहा कि पिछले 12 दिन में पांच लाख करोड़ रुपये आ चुके हैं। पीएम ने अपने संबोधन के जरिए गरीब आम जनता को विश्वास दिलाया कि नोटबंदी के जरिए जो पैसा बैंकों में जमा हुआ है वो पैसा बैंक अपने खजाने में नहीं रखेंगी। बल्कि कम ब्याज पर गरीब लोगों को सैलून खोलने, छोटे काम वालों को कर्ज दिया जाएगा। कहा जाए तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नोटबंदी के फैंसले के दूरगामी परिणाम होंगे और वो सीधे सीधे आम गरीब जनता को लाभ दिलाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने #परिवर्तन_रैली में ड्रग्स कारोबार को भी निशाने पर लिया और कहा कि ड्रग्स का सारा काम चेक से न होकर नकद में चलता है। नोट बंदी से ड्रग्स कारोबार को झटका लगा है, जो आतंकवाद को पोषित करता है। वास्तव में कहा जाए तो मोदी जी के नोटबंदी के फैंसले से  ड्रग्स कारोबार पर रोक लगाने में मदद मिलेगी। क्योंकि ड्रग्स कारोबार के लिए जो धन उपयोग होता है या तो वो काल धन होता है या जाली नोट होते हैं। जो कि पडोसी देश पाकिस्तान द्वारा भारत में ड्रग्स कारोबार और आतंकवाद को बढ़ावा देने सहित भारत की अर्थव्यवस्था को कमजोर करने के लिए भारत में विभिन्न माध्यमों से पाकिस्तान द्वारा निर्यात किये जाते हैं। नोटबंदी के फैंसले से देश में ड्रग्स कारोबार और आतंकवाद के आकाओं पर मार पड़ी है, जो कि पाकिस्तान में बैठकर हिंदुस्तान की बर्बादी का सपना देखते हैं।

पीएम मोदी ने जनधन के खतों में #कालाधन डालने की खबरों पर आम गरीब जनता को सावधान करते हुए कहा कि किसी को अपने खाते में ढाई लाख न डालने दें। नहीं तो कानून बहुत सख्त है। ऐसे 500 और 1000 के नोटों से दूर रहें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दी गयी सलाह पर जनधन खाता धारकों सहित बचत खाता धारकों को किसी भी काला कारोबारी के काले धन को सफेद करने से बचना चाहिए। और देश की सरकार का साथ देकर एक साफ-सुथरे भारत के निर्माण में योगदान देना चाहिए। आगरा का निवासी होते हुए कुल मिलकर कहूँ तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगरा की परिवर्तन रैली में आगरा के लिए बेशक किसी विशेष योजना का ऐलान न किया हो, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भाषण अदभुत रहा। उनके ओजस्वी भाषण ने आगरा सहित देश की जनता को प्रवाभित किया। उनके भाषण में शुरू से अंत तक गरीब, किसान, आदिवासी और मध्यम वर्ग रहा। इससे लगता है कि देश में गरीबों, किसानों, आदिवासियों और मध्यम वर्ग के लिए अच्छे दिनों की शुरुआत हो गयी है। आगरा की परिवर्तन रैली के माध्यम से नरेंद्र मोदी ने आगामी 2017 में उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश से बिगंल फूंक  दिया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: