आ गया पाक बिकने के कगार पर

आ गया पाक बिकने के कगार पर
भैसे बेच  रहा  है वह नीलाम करा कर

जैस करनी वैसे भरनी ऐ इन्सान समझ ले
अजहर भी आ गया है अब मौत के कगार पर

लद चुका है दब चूका है पाक दुनिया के कर्ज से 
कटोरा हाथ में आ गया भीख मांगने के कगार पर

घर में नही दाने,अम्मा चली भुनाने पाक में
इमरान आ चूका है ख्याली पुलाव  पर

न सूत न कपास जुलाहे से लठम लठा
पाक  डरा है  हमे एटम बम  दिखा कर

आर के रस्तोगी  

Leave a Reply

%d bloggers like this: