ढपली वाले अभिनेता ऋषि कपूर अलविदा….

शादाब जफर “शादाब”

अभी सिने जगत इरफान खान की मौत के सदमे से उभरा भी नही था की सिने जगत के बेहद दमदार अभिनेता ऋषि कपूर ने अचानक दुनियां को अलविदा कर सिने प्रेमियो को गहरा आघात पहुंचा दिया। ऋषि कपूर ने साल 2019 का सेलिब्रेशन अपने पूरे परिवार और आलिया भट्ट के साथ किया था। नीतू कपूर ने खुद उस दौरान की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की थी। ये फोटो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी। 29 सितंबर 2019 को जब ऋषि कपूर मुबंई से रवाना हुए थे तो उन्होंने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा था कि सभी को हैलो, किसी बीमारी का इलाज कराने के लिए अमेरिका जा रहा हूं। मैं अपने चाहने वालों से ये गुजारिश करता हूं कि वो किसी तरह का बेमतलब कयास न लगाएं। मुझे फिल्मों में काम करते हुए 45 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है। आप सभी के प्यार और दुआओं की बदौलत मैं जल्द ही लौटकर आऊंगा।   दरअसल 2018 में उन्हें कैंसर का पता चला था, जिसके बाद लगभग एक वर्ष तक न्यूयॉर्क में उनका इलाज चला था। भारत वापसी के बाद वे सार्वजनिक तौर पर बहुत कम देखे जाने लगे थे, जिस बीच उनका इलाज चलता रहा। दो वर्षो तक चली। ऋषि पिछले साल सितंबर में अमेरिका से भारत लौटे थे। वहां करीब एक साल तक उनका कैंसर ट्रीटमेंट चला। ऋषि कपूर को चेस्ट इन्फेक्शन, सांस लेने में दिक्कत और हल्का बुखार भी हुआ। उनका कोविड-19 टेस्ट भी कराया गया । दो स्पेशलिस्ट डॉक्टर उनका इलाज कर रहे थे। पिछले गुरुवार से उनकी सेहत खराब बताई जा रही थी । उन्हें अस्पताल में भर्ती भी कराया गया था, लेकिन चार घंटे बाद डिस्चार्ज कर दिया गया था। अस्पताल जाने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें स्पेशल पास भी जारी किया था। उनकी मेडिकल रिपोर्ट बीएमसी और हेल्थ डिपार्टमेंट को भी भेजी गईं थीं। कुछ ही दिनों पहले ऋषि ने एक इंटरव्यू में कहा था, “अब मैं बहुत बेहतर महसूस कर रहा हूं। और कोई भी काम कर सकता हूं। सोच रहा हूं कि एक्टिंग दोबारा कब शुरू करूं। पता नहीं लोगों को अब मेरा काम पसंद आएगा भी या नहीं। न्यूयॉर्क में मुझे कई बार खून चढ़ाया गया था। तब मैंने नीतू से कहा था- उम्मीद करता हूं कि नए खून के बावजूद मैं एक्टिंग नहीं भूलूंगा।” अपने जमाने के चॉकलेटी हीरो और ढपली बजाने वाले मस्त कलाकार के रूप में जाने जाने वाले ऋषि कपूर एक ऐसे कपूर परिवार से ताल्लुक रखते थे जिसने बॉलीवुड में बहुत ही महत्‍वपूर्ण योगदान दिया है।

ऋषि कपूर स्‍वर्गीय राज कपूर के बेटे और महान अभिनेता पृथ्‍वीराज कपूर के पोते थे। परम्‍परा के अनुसार उन्‍होने भी अपने दादा और पिता के नक्‍शे कदम पर पैर रखते हूए फिल्‍मों में अभिनय किया और वे एक सफल अभिनेता के रूप में उभर आए। ऋषि कपूर ने अपने फ़िल्मी करियर में सैकड़ों फ़िल्में की इस दौरान उन्होंने कई अवार्ड भी अपने नाम किये। साल 2008 में ऋषि कपूर को फिल्म फेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी नवाजा गया था। ऋषि कपूर का जन्म 4 सितम्बर 1952 को मुंबई के चेंबूर में हुआ था। ऋषि कपूर बॉलीवुड के शो मैन यानी राज कपूर के मंझले बेटे थे। ऋषि कपूर का निक नेम चिंटू था। राज कपूर के बेटे ऋषि कपूर के दो भाई और हैं रणधीर कपूर और राजीव कपूर और दोनो ही बॉलीवुड अभिनेता हैं।

ऋषि कपूर ने अपनी प्रारम्भिक पढ़ाई अपने भाईयों के साथ कैंपियन स्कूल, मुंबई और उसके बाद आगे की पढ़ाई मेयो कॉलेज अजमेर से पूरी की। ऋषि कपूर की शादी बॉलीवुड अभिनेत्री नीतू कपूर से हुई थी। बता दें, ऋषि कपूर और नीतू ने शादी से पहले एक दूसरे को पांच साल तक डेट किया उसके बाद वे शादी के बंधन में बंध गए। ऋषि कपूर के दो बच्चे है। रणबीर कपूर और रिधिमा कपूर। रणबीर कपूर अपने पिता ऋषि कपूर की तरह बॉलीवुड के चॉकलेटी हीरो हैं। ऋषि कपूर की बेटी रिधिमा की शादी बिजनेस मैन भारत साहनी से हुई है। बॉलीवुड की लीडिंग एक्ट्रेस करीना कपूर और करिश्मा कपूर ऋषि कपूर की भतीजी हैं।   फ़िल्मी परिवार से होने के कारण ऋषि कपूर हमेशा से ही फिल्मों में अभिनय करने की रूचि रखते थे। ऋषि कपूर ने बॉलीवुड में 1970 में अपने पिता की फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ से डेब्यू किया था। इस फिल्म में ऋषि कपूर ने अपने पिता के बचपन का किरदार निभाया था। ऋषि कपूर ने बॉलीवुड में ऐंट्री बतौर एक्टर 1973 में फिल्म बॉबी से की थी । इस फिल्म में उनके अपोजिट डिंपल कपाड़िया थीं। ऋषि कपूर ने अपने कैरियर में 1973-2000 तक 92 फिल्मों में रोमांटिक हीरो का किरदार निभाया है। इन्होने बतौर सोलो लीड एक्टर 51 फिल्मों में अभिनय किया है। ऋषि कपूर अपने जमाने के लडकियो के सपनो मैं आने वाले मशहूर बॉलीवुड हीरो थे उन्होने कई लव स्टोरी पर बनी रोमांटिक हिट फ़िल्में दीं। ऋषि ने अपनी पत्नी नीतू कपूर के साथ 12 फिल्मों में अभिनय किया।   अभिनय की दुनिया में तहलका मचाने के बाद ऋषि ने निर्देशन में भी हाथ आजमाया। उन्होंने 1998 में अक्षय खन्ना और ऐश्वर्या राय बच्चन अभिनीत फिल्म “आ अब लौट चलें” निर्देशित की। ऋषि कपूर ने अपने कैरियर की शुरुआत से हमेशा ही रोमांटिक किरदार को निभाया था, लेकिन फिल्म अग्निपथ में उनके खलनायक के किरदार को देख सभी हतप्रभ रह गए। ऋषि को फिल्म अग्निपथ के लिए आईफ़ा बेस्ट नेगेटिव रोल के अवार्ड से भी नवाजा गया था। ऋषि कपूर ने जिन फिल्मो में काम किया उन में, *मेरा नाम जोकर,यादों की बारात , बॉबी,राजा , रफ्फु चक्कर,कभी-कभी , बारूद , लैला मजनू , रंगीला रतन ,चला मुरारी हीरो बनने , अमर अकबर एंथोनी , दूसरा आदमी,नया दौर , पति पत्नी और वो , बदलते रिश्ते , फूल खिले है गुलशन-गुलशन,झूठा कही का , सलाम मेमसाब , सरगम,धन दौलत , आप के दीवाने , दो प्रेमी , कर्ज ,नसीब , जमाने को दिखाना हैं,प्रेम रोग , ये वादा रहा, दीदार,कुली,दुनिया,सितमगर , जमाना , सागर , तवायफ , रही बदल गये,दोस्ती दुश्मनी, नसीब अपना-अपना , एक चादर मैली सी, नगीना,सिंदूर , हवालात , प्यार के काबिल,घर-घर की कहानी , विजय , हमारा खानदान,घराना , हथियार ,बड़े घर की बेटी , चाँदनी , खोज,आजाद देश के गुलाम , शेषनाग , अमीरी और गरीबी,रणभूमि , अजूबा , घर परिवार , हिना , बंजारन,हनीमून , बोल राधा बोल , दीवाना,दामिनी , साधना,साहिबा , श्रीमान आशिक , इज्जत की रोटी,घर की इज्जत, प्रेम योग , साजन का घर, ईना मीना डीका,याराना , साजन की बाहों में, हम दोनों,दरार , प्रेम ग्रन्थ,कौन सच्चा कौन झूठा,जय हिन्द,कारोबार , राजू चाचा, कुछ खाती कुछ मीठी,ये है जलवा,कुछ तो हैं, तहजीब,हम तुम,फना,ओम शांति ओम , नमस्ते लन्दन , डोंट स्टॉप ड्रीमिंग,थोडा प्यार थोडा मैजिक , हल्लाबोल,प्यार आज कल , डेल्ही-6 , चिंटू जी,पटियाला हॉउस , टेल मी ओह खुदा,जब तक हैं जान , अग्निपथ,बेशर्म , औरंगजेब,शादी पुलाव, सनम रे और कपूर एंड संस।यादगार फिल्मो में बेहतरीन अदाकारी से लोगों का दिल जीता। वही उन्हे 1974 में फिल्म बॉबी के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार व 2008 में फ़िल्मफ़ेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से भी नवाज़ा गया। अभिनेता ऋषि कपूर का यू अचानक चले जाना बॉलीवुड और भारतीय सिनेमा प्रेमियो के लिए हकीकत में बहुत बड़ा सदमा है। मेरी और से ढपली वाले ऋषि कपूर जी को भावभीनी श्रद्धांजलि।

Leave a Reply

%d bloggers like this: