More
    Homeआर्थिकीप्रधानमंत्री मुद्रा योजना गरीबों का सहारा है

    प्रधानमंत्री मुद्रा योजना गरीबों का सहारा है

    प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी और माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूशन द्वारा छोटे और मध्यम कारोबारियों को बिना किसी सिक्योरिटी के कर्ज देने का प्रावधान है. यह कर्ज नॉन एग्रीकल्चरल सेक्टर में छोटे कारोबार को बढ़ावा देते हुए रोजगार बढ़ाने के लिए दिया जाता है.हाल ही में 12 महीने की अवधि के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत शिशु ऋणों की शीघ्र चुकौती पर 2% ब्याज छूट को मंजूरी दी है। कोविद-19 महामारी के तहत लगाए गए लॉकडाउन के कारण ‘सूक्ष्म और लघु उद्यमों’ का कारोबार बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इससे इन उद्यमों की ऋण अदायगी क्षमता बहुत प्रभावित हुई हैं । अत: इन कारोबारियों के ऋण के डिफॉल्‍ट होने तथा  नॉन परफार्मिंग एसेट में बदलने की बहुत अधिक संभावना है इसके परिणामस्वरूप भविष्य में संस्थागत ऋणों तक उनकी पहुँच पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

    योजना के क्रियान्वयन से सूक्ष्म तथा लघु उद्यमों को कोविद-19 महामारी के कारण उत्पन्न वित्तीय परेशानियों से निपटने में मदद मिलेगी।छोटे कारोबारियों को महामारी के समय धन की कमी का सामना करना पड़ रहा है अत: उनके द्वारा  कर्मचारियों की छंटनी की जा रही है। योजना छोटे कारोबारियों को कर्मचारियों की छंटनी किये बिना ही अपना कामकाज निरंतर जारी रखने में मदद करेगी।

    प्रधान मंत्री मुद्रा योजना की शुरुआत 8 अप्रैल, 2015 को गैर-कॉर्पोरेट, गैर-कृषि लघु / सूक्ष्म उद्यमों को 10 लाख तक का ऋण प्रदान करने के उद्देश्य से की गई थी । ये ऋण वाणिज्यिक बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, लघु वित्त बैंक, सूक्ष्म वित्त संस्थाओं तथा गैर-बैंकिंग‍ वित्तीय कंपनियों द्वारा प्रदान किये जाते हैं। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत तीन प्रकार के ऋणों की व्यवस्था की गई: शिशु- 50,000 रुपए तक के ऋण, किशोर- 50,001 से 5 लाख रुपए तक के ऋण, तरुण – 500,001 से 10 लाख रुपए तक के ऋण। मुद्रा कंपनी को 100% पूंजी का योगदान के साथ ‘भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी के रूप में स्थापित किया गया है। वर्तमान में मुद्रा कंपनी की अधिकृत पूंजी 1000 करोड़ है और भुगतान की गई पूंजी 750 करोड़ है। मुद्रा ऋण गैर-कृषि गतिविधियों के लिए उपलब्ध हैं, जो 10 लाख रुपए तक और कृषि से जुड़ी गतिविधियाँ जैसे कि डेयरी, पोल्ट्री, मधुमक्खी पालन आदि क्षेत्र में काम करते है।

    अगर आप अपना छोटा-सा बिजनेस या खुद का व्‍यापार शुरु करना चाहते हैं लेकिन आपके पास पर्याप्त राशि नहीं है तो आप प्रधानमंत्री  मुद्रा  योजना  के जरिए आवेदन करके 50 हजार रुपए से लेकर 10 लाख रुपए तक लोन ले सकते हैं और अपना खुद का बिजनेस शुरू कर सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने देश के छोटे उद्यमियों की सहायता के लिए दिल्‍ली में प्रधानमंत्री मुद्रा (माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी योजना की शुरुआत की थी। पीएम मोदी ने इस योजना को देश के विकास के लिए बेहद जरूरी बताया था। आम तौर पर मुद्रा लोन वेंडर, ट्रेडर, दुकानदार और अन्य कारोबार के लिए दिए जाते हैं. मुद्रा लोन लेकर आप टैक्सी-ट्रांसपोर्ट का भी काम शुरू कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आप छोटी यूनिट लगाना चाहते हैं तो मशीनरी और कच्चा माल आदि खरीदने के लिए भी लोन लिया जा सकता है.

    हाल ही में मुद्रा छूट योजना उन ऋणों पर लागू होगी  जिन ऋणों का भुगतान 31 मार्च, 2020 तक बकाया था और  31 मार्च, 2020 को तथा योजना की अवधि के दौरान ऋण  गैर-निष्पादित परिसंपत्ति के रूप में नहीं गया हो। ध्यान रहे कि  इसमें वे ऋण भी शामिल किये जाएंगे जिन्हे पूर्व में ‘गैर-निष्पादन परिसंपत्ति के रूप में वर्गीकृत किया गया था परंतु बाद में उन्हे निष्‍पादित परिसंपत्ति के रूप शामिल किया गया हो। छूट योजना की अनुमानित लागत लगभग 1,542 करोड़ रुपए होगी जिसे भारत सरकार द्वारा अपने खाते से वहन किया जाएगा।

    वर्तमान छूट से निःसन्देहः  उधारकर्ताओं के लिए वित्तीय तनाव को कम करेगी। साथ ही यह यह उन लोगों को प्रोत्साहित करेगा जो ऋणों का नियमित पुनर्भुगतान करेंगे कोविद -19 महामारी के कारण उत्पन्न संकट के समय मुद्रा योजना के तहत प्रदान की जाने वाली ऋण राहत योजना अपना कामकाज निरंतर जारी रखने में मदद करेगी जिससे अर्थव्यवस्था पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा तथा देश के आर्थिक पुनरुत्‍थान को बल  मिलेगा। वास्तव में देखे तो प्रधानमंत्री मुद्रा योजना गरीबों का सहारा है, डूबती कश्ती को मिला किनारा है !! 

    डॉ. सत्यवान सौरभ
    डॉ. सत्यवान सौरभ
    रिसर्च स्कॉलर इन पोलिटिकल साइंस, दिल्ली यूनिवर्सिटी, कवि,स्वतंत्र पत्रकार एवं स्तंभकार

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    * Copy This Password *

    * Type Or Paste Password Here *

    12,266 Spam Comments Blocked so far by Spam Free Wordpress

    Captcha verification failed!
    CAPTCHA user score failed. Please contact us!

    Must Read