मौत से काहे को डरता बन्दे

मौत से काहे को डरता बन्दे,मौत तो एक दिन आयेगी।
सब कुछ रह जाएगा यहां,कुछ चीज नहीं तेरे संग जायेगी

धन और दौलत कोठी बंगले,यही सब रह जाएंगे।
खाली हाथ आया तू,खाली हाथ सब ही जाएंगे।।

भज ले प्रभु का नाम तू,फिर समय नहीं मिल पायेगा।
कब तेरा बुलावा आ जाए,पता नहीं तुझे चल पायेगा।।

करता क्यू घमंड तू,ये सब चूर चूर हो जायेगा।
कर तू नेकी के काम,यही सब कुछ तेरे साथ जायेगा।।

मानव शरीर मिलता है बड़े मुश्किल से,फिर नहीं मिल पायेगा
इससे ले लों जितना काम,अंत में ये सब नष्ट हो जायेगा।।
पंचतंत्र से बना है शरीर,पंचतंत्र में ही मिल जायेगा।
खाली हाथ आया था तू दुनिया में
खाली हाथ तू जायेगा।।

खाली समय मिले जब तुमको प्रभु का नाम ले लो तुम।
खाली समय का सदुपयोग करो, प्रभु को कभी न भूलों तुम।।

जानते है ये सभी बाते,पर अम्ल नहीं कर पाते हैं।
समय जब निकल जाता है,बाद में सब पछताते हैं।।

आर के रस्तोगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: