ऋषि दयानन्द

ऋषि दयानन्द के तप, त्याग व भावनाओं को ध्यान में रखकर हमें वेदभाष्य सहित उनके सभी ग्रन्थों का स्वाध्याय करना चाहिये

मनमोहन कुमार आर्यऋषि दयानन्द संसार के महापुरुषों में अन्यतम थे। उन्होंने जो कार्य किया वह…

ऋषि दयानन्द ने सत्य के निर्णयार्थ सब धर्माचार्यों से शास्त्रार्थ किये थे

–मनमोहन कुमार आर्य                 सभी मनुष्य बुद्धि रखते हैं जो ज्ञान प्राप्ति में सहायक होने…

ऋषि दयानन्द ने विश्व कल्याण की भावना से वेदों का प्रचार किया

–मनमोहन कुमार आर्य                 ऋषि दयानन्द ने आर्यसमाज की स्थापना किसी नवीन मत–मतान्तर के प्रचार…

ऋषि दयानन्द का गृहाश्रम पर पठनीय महत्वपूर्ण उपदेश

–मनमोहन कुमार आर्य                 ऋषि दयानन्द का सत्यार्थप्रकाश ग्रन्थ विश्व प्रसिद्ध ग्रन्थ है। इसके चैथे…

ऋषि दयानन्द ने मत-मतान्तरों की परीक्षा कर वेदानुकूल सत्य के ग्रहण का सिद्धान्त दिया

–मनमोहन कुमार आर्य       ऋषि दयानन्द ने अपने ज्ञान व ऊहा से वेदों को सृष्टि…

ईश्वर-वेद-देश भक्त, आदर्श महापुरुष तथा विश्व के सच्चे हितैषी ऋषि दयानन्द

–मनमोहन कुमार आर्य                परमात्मा की सृष्टि में अनेक अनादि, नित्य व शाश्वत् आत्मायें जन्म…

ऋषि दयानन्द और आर्यसमाज ने वैदिक धर्म का पुनरुद्धार और देशोत्थान का कार्य किया

–मनमोहन कुमार आर्य                ऋषि दयानन्द (1825-1883) के समय में सृष्टि के आदिकाल से आविर्भूत…