मज़दूरों को सादर समर्पित

भारत की पलायन करती अर्थव्यवस्था यानी मज़दूरों को सादर समर्पित

गर लौट सका तो जरूर लौटूंगा, तेरा शहर बसाने को।पर आज मत रोको मुझको, बस मुझे अब जाने दो।।मैं खुद...

20 queries in 0.352