लोकतंत्र का भविष्य समन्वय में है संघर्ष में नहीं ’