लोकतंत्र में हिंसा