लोक को तंत्र निर्देषित नहीं कर सकता