विदेशी कर्ज और रुपयें की गिरती कीमत