विरोध की कमजोर नींव पर खड़ी