संप्रभुता के सम्मान पर जोर