वृहदारण्यक उपनिषद् की मैत्रेयी सौभाग्यशाली

Posted On by & filed under धर्म-अध्यात्म

– हृदयनारायण दीक्षित वैदिक काल और उत्तर वैदिक काल में ढेर सारी तत्ववेत्ता महिलाएं हैं। लोपामुद्रा ऋग्वेद की मंत्रद्रष्टा हैं लेकिन मैत्रेयी की तत्व अभीप्सा बेजोड़ है। वह तत्ववेत्ता कुलपति याज्ञवल्क्य की दो पत्नियों में से एक थी। याज्ञवल्क्य ने संन्यास की तैयारी की। उन्होंने दोनाें पत्नियों मैत्रेयी व कात्यायनी को बुलाया, कहा कि हमारी… Read more »